भारत सड़क सुरक्षा नियम क्या है जाने मोटर व्हीकल एक्ट का नियम 

0
237
Bhart Sadak Suraksha Niyam

जैसे कि आप सभी जानते हैं कि भारत में इतनी सारी गाड़ियां हो गई है रोजाना गाड़ी से किसी न किसी का एक्सीडेंट होता ही रहता है। जिससे कि सरकार बहुत परेशान है और लोग कम देकर छूट जाते हैं उनके लिए सरकार सड़क सुरक्षा योजना लेकर आएंगे जिसके तहत लोगों को इससे राहत मिलेगी।आज हम आपको इसी इसी के बारे में बताने वाले हैं कि आप सड़क सुरक्षा योजना क्या है इसके क्या लाभ है ,इसके बारे में आपको जानकारी देने वाली है चलिए उसके बारे में बताते हैं.

भारत सड़क सुरक्षा नियम क्या है ?

सड़क सुरक्षा नियम 2023 जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारत सरकार द्वारा 1 सितंबर 2019 को पूरे भारत में सड़क सुरक्षा सुरक्षा के लिए नए नियम लागू किए गए हैं सड़क सुरक्षा के नियम नए नियम जारी करने पर केंद्र सरकार ने जुर्माने या चालान को भी बढ़ावा दिया है जिसमें मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत ट्रैफिक नियमों को तोड़ने वाले पर चालकों वाले पर नियमों को तोड़ने पर पहले की तुलना में ज्यादा जुर्माना देना होगा। केंद्र सरकार ने बढ़ते हुए अपराधों को रोकने के लिए इस नियम की जारी किया है इस नियम के अंतर्गत धारा 177 के तहत कमजोर इंजन की गाड़ी बनाने पर वाहन कंपनियों को ₹500 करोड़ तक का जुर्माना लगाया जा सकता है चालकों को पहले ₹100 देने से बढ़कर इस से बढ़ाकर ₹500 कर दिया गया है.

Also Read: CAIIB ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of CAIIB?

वही बात की जाए ड्राइवरलेस के लाइसेंस के नियमों का उल्लंघन करने पर आपको एक लाख तक का जुर्माना लगाया जा सकता है सड़क पर तेज रफ्तार से गाड़ी चलाने पर आपको 2000 तक का जुर्माना लगाए सकता है अगर आपकी उम्र 18 वर्ष से कम है तो आप गाड़ी चला रहे हैं और पकड़े गए हैं तो आपके माता-पिता पर 25000 तक का जुर्माना लगाया जा सकता है, इसके पश्चात उस बस उस बच्चे को 25 साल तक ड्रेसेंस नहीं मिलेगा और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन भी रद्द कर दिया जाएगा जो गाड़ी चलाते हैं, उसका मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं और नियमों का पालन नहीं करते हैं तो उन पर भारी जुर्माना लगेगा, जिसके तहत यह काम सड़क सुरक्षा योजना के तहत की जाएगी।

मोटर वाहन अधिनियम 2013 के नियम क्या है 

यादी आप कोई कम उम्र का लड़का गाड़ी चलते हुए पकड़ा जाता है प्रति 25000 तक का उपयोग करने के लिए सक्त यादी कोई व्यक्ति सड़क पर तेज से गाड़ी चला रहा है, प्रति 1000 से लेकर 2000 तक का उपयोग करना है, जुर्माना लगा जा सकता है, ट्रैफिक के अनुसर जो व्यक्ति ड्राइविंग लाइसेंस के लिए एक लाख तक का उपयोग करता है जुर्मना लगा जा सकता है ड्राइविंग करते समय जो व्यक्ति मोबाइल पर बात करते हैं ट्रैफिक जाम करने की कोशिश करते हैं गलत दिशा से ड्राइव करते हैं यूज पर ट्रैफिक जैम , ट्रैफिक रूल्स के अनुसार यूज प्रति जुर्माना में लगा सकता है। 

Also Read: NIOS ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of NIOS?

दो पहिया वाहन चलाने वालों के लिए क्या नियम है ?

आपको बता दें मोटरसाइकिल एक्ट है तो दो पहिया वाले वाहन चलाने के नियम इस प्रकार हैं यदि दो पहिया वाहन चलाते समय चालक को हेलमेट लगाना बहुत जरूरी है यदि वह हेलमेट नहीं लगाता है तो उसको भी चालान हो सकता है.

दिल्ली में बता दे कि आपको आपके पीछे बैठने वाले हैं व्यक्ति को भी हेलमेट लगाना बहुत जरूरी है। 

दो पहिया वाहन चलाते समय व्यक्ति को जूते पहनाओ अनिवार्य है अगर आप चप्पल पहनकर मोटरसाइकिल चलाते हैं तो आप पर ₹1000 का जुर्माना लग सकता है.

दो पहिया वाहन चलाने वाले व्यक्ति के पास गाड़ी के सभी कागज के अलावा ड्राइविंग लाइसेंस भी होना चाहिए इसके अलावा वाहन का प्रदूषण सर्टिफिकेट भी होना चाहिए,

मोटरसाइकिल चलाते हुए व्यक्ति कभी भी किसी से फोन पर बात ना करें अगर ऐसा करता है तो उसका उस पर भारी जुर्माना लगाया जा सकता है। 

सुरक्षा उपकरण क्या है 

आपको बता दें कि भारत सरकार द्वारा मोटर वाहन व्हीकल के अंतर्गत सड़क सुरक्षा सड़क सुरक्षा के लिए सड़कों पर कैमरे लगाए गए हैं जिससे कि व्यक्ति की हर हरकत हरकत पर नजर रखी जाती है यदि किसी व्यक्ति का एक्सीडेंट हो जाता है तो कैमरे उसे देखकर उसके पास तुरंत एंबुलेंस दी जाती है ताकि उसकी जान बच सके इसके तहत यदि कोई व्यक्ति गलत तरीके से गाड़ी चला रहा है। रेड लाइन क्रॉस करता है तो कैमरे की निगरानी के आते ही ऑटोमेटिक उसका चालान कट जाता है और चलाना उसके घर सीधे पहुंच जाता है इसकी सड़क सुरक्षा नियमों का नहीं होता है.

सड़क सुरक्षा ट्रैफिक रूल्स का मुख्य उद्देश्य क्या है 

जैसे कि आप जानते हैं कि हमारे देश में जनसंख्या की दृष्टि से विश्व में दूसरे स्थान पर आता है और वहां पर अत्यधिक लोग सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का पालन नहीं करते अगर ट्रैफिक पुलिस ट्रैफिक रूल्स के उल्लंघन करने वाले व्यक्ति को पकड़ती है तो वह बहुत कम जमा राशि देकर आसानी से छूट जाते हैं वही यही वजह है हमारे देश में सड़क हादसा बहुत ज्यादा होते हैं जान माल का नुकसान ज्यादा होता है सड़क हादसे में कम करने के लिए तथा लोगों को ट्रैफिक कानून के प्रति जागरूक करने के लिए समय-समय पर सरकार ट्रैफिक कानून बनाती है जिसे लोग अपन कर सके और देश में दुर्घटना कम हो सके.

आपका हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं धन्यवाद

Also Read: WWW ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of WWW?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here