सी लैंग्वेज C language को हिंदी में क्या कहते हैं?

0
3509

आज बताने वाले हैं आपको सी लैंग्वेज  C language के बारे में सी लैंग्वेज C language क्या होती है. सी लैंग्वेज C language क्यों सीखी जाती है, इसके क्या फायदे होते हैं इसके बारे में हम विस्तार पूर्वक आपको बताएंगे तो चलिए आपको इसके बारे में बताते हैं,

आपको बता दें कि यह है दुनिया की सबसे पुरानी लैंग्वेज programming language है। जिसे हम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज programming language के नाम से जानते हैं इसके साथ ही साथ इसे सी प्रोग्रामिंग भी C programming कहा जाता है. सी लैंग्वेज C language कैसे सीखे इन सवालों का जवाब हम आपको इसमें बताने वाले हैं। आज हमारे पास विभिन्न प्रकार की असेंबली लैंग्वेज Assembly language उपलब्ध है। जिनको सीकर एक अच्छा प्रोग्राम बन सकते हैं. वह कई प्रकार के सॉफ्टवेयर प्रोसेसर और ऑपरेटिंग सिस्टम बना सकते हैं.

 यदि आप कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में रुचि रखते हैं तो प्रोग्रामिंग भाषा चुनना और उसे सीखना सबसे कठिन काम है, इसके लिए आपको यह देखना होगा कि आप क्या बनना चाहते हैं, और उसके लिए सबसे अच्छी प्रोग्रामिंग भाषा कौन सी है। है,परंतु अगर आप नए हैं तो सी C language लैंग्वेज से शुरुआत करना आपके लिए बहुत ही अच्छा होगा सी लैंग्वेज C language  आसान होता है। प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखने के क्या फायदे हैं सबसे महत्वपूर्ण है कि सी लैंग्वेज C language को दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है.सी लैंग्वेज का एडवांस कंप्यूटर लैंग्वेज की मूल भाषा है इसका अर्थ है कि आप असली प्रोग्राम में महारत हासिल कर सकते हैं तो आप कई दूसरी भाषाओं को भी आसानी से सीख सकते हैं

What is C Language in Hindi

आपको बता दें कि सी लैंग्वेज एक जनरल परपज प्रोग्रामिंग लैंग्वेज general purpose programming language है। जिसका उपयोग कई प्रकार की एप्लीकेशन applications बनाने में किया जाता है c-programming के द्वारा हम विंडोज या आईओएस Windows or iOS जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम से लेकर कई प्रकार के सॉफ्टवेयर बना सकते हैं। एक मशीन स्वतंत्र स्ट्रक्चर्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज structured programming language  भी है.जिसका अर्थ है सी लैंग्वेज C language  के प्रोग्राम विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर द्वारा चल सकते हैं. इस प्रोग्रामिंग भाषा के मुख्य रूप से एक सिस्टम प्रोग्रामिंग लैंग्वेज systems programming language. के रूप में डिवेलप किया गया था. सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज C programming language को अक्सर एक मिडल लेवल लैंग्वेज middle level language  के रूप में देखा जाता है क्योंकि इसमें लो लेवल low level और हाई लेवल लैंग्वेज  high level की कई विशेषताएं बताई जाती हैं. कुछ उदाहरण जैसे कि सी लैंग्वेज प्रोग्राम को accembly code में बदल सकते हैं जो पॉइंट अंकगणित (pointer arithmetic) को सपोर्ट करता है.

आपको बता दें कि यह विशेषता एक लो लेवल भाषा में होती है वहीं यह मशीन इंडिपेंडेंट machine independent है. जो एक हाई लेवल फीचर है सी को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी कहा जाता है ,C program, portable होते है. जिसका मतलब है लिखा गया सोर्स कोड बिना किसी बदलाव के दूसरे ऑपरेटिंग सिस्टम में काम कर सकता है. सी को compiled language  का दर्जा भी दिया गया है। क्योंकि एक बार सी प्रोग्राम लिखने पर आपको इसे  (executable) बनाने के लिए सी कंपाइलर C compiler में चलाना होगा, ताकि कंप्यूटर इसे समझ सके और चला सके सी लैंग्वेज C language बहुत ही पॉपुलर सिंपल और फ्लैक्सिबल है। यही कारण है कि यह 40 साल पुरानी होने के बावजूद भी आज भी इसका इस्तेमाल किया जाता है.

Read More: SMPS ka Full Form Kya Hai

सी लैंग्वेज C language का इतिहास

अगर हम C Programming Language के इतिहास की बात करें तो इसे 1972 में डेनिस रिची ने AT&T (अमेरिकन टेलीफोन एंड टेलीग्राफ) की bell laboratories में विकसित किया था। प्रारंभ में,C language को UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम में उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। इससे पहले 1967 में, मुख्य रूप से सिस्टम सॉफ्टवेयर लिखने के लिए BCPL (बेसिक कंबाइंड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) नामक एक भाषा को मुख्य रूप से system software लिखने के लिये develop किया था.

इसके बाद बीसीपीएल BCPL की कई विशेषताओं का उपयोग करके एक नई B language बनाई गई। UNIX operating system के शुरुआती संस्करण बनाये गए थे. B language का उपयोग करके बनाए गए थे। C भाषा इन दो भाषाओं B और BCPL का मेल है। यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रोग्राम की कोडिंग पूरी तरह से सी लैंग्वेज में की जाती है। सी भाषा तब अधिक लोकप्रिय हुई जब Brian Kernighan व Dennis Ritchie ने “The C Programming Language” नामक एक पुस्तक प्रकाशित की. आज C Program कई नयी programming लैंग्वेज में इस्तेमाल किये जाते है.

C Programming कहाँ उपयोग होती है

सी प्रोग्रामिंग C programming का उपयोग अलग-अलग क्षेत्रों में किया जाता है शुरुआत में सी लैंग्वेज C language का उपयोग सिस्टम डेवलपमेंट system development के कार्यों में किया जाता था, परंतु इसकी विशेषताओं के कारण आज यह अलग-अलग कार्यों में इसका उपयोग किया जाता है। सी प्रोग्रामिंग system development लैंग्वेज का उपयोग होती है इसके कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं जिसे देखकर आप कुछ समझ सकते हैं.

Operating System

Compilers

Database

Application Software

System Software

Network Driver

सी लैंग्वेज की विशेषताएं

आपको बता दें कि सी लैंग्वेज व्यापक रूप से इस्तेमाल की जवान है जाने वाली भाषा है यह कई सुविधाएं प्रधान करती है जो इस प्रकार हैं

सी लैंग्वेज C language एक सरल लोकप्रिय और बेहद पावरफुल लैंग्वेज है क्योंकि यह है कई प्रकार के डाटा टाइप और फंक्शन को प्रदान करती है।

यह एक मशीन इंडिपेंडेंट लैंग्वेजmachine independent language  है। असेंबली लैंग्वेज के विपरीत सी प्रोग्राम को विभिन्न मशीनों पर प्रयोग किया जा सकता है.

 सी लैंग्वेज C language का उपयोग लो लेवल प्रोग्रामिंग और हाई लेवल प्रोग्रामिंग दोनों में किया जाता है इसी कारण है मिडल लेवल लैंग्वेज के नाम से भी जानी जाती है.

 सी प्रोग्राम  C language फॉर टेबल होते हैं या नहीं इन्हें किसी भी कंप्यूटर पर चला जा सकता है सी लैंग्वेज को स्ट्रक्चर्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज भी कहा जाता है क्योंकि हम फंक्शन का उपयोग करके सी प्रोग्राम को कई भागों में तोड़ सकते हैं.

 जिससे कि हम इसे बनाना और समझना आसान हो सकता है सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में कीवर्ड की संख्या बहुत कम है इसके स्टैंडर्ड वर्जन में 32 कीबोर्ड है जिससे इन्हें याद रखना बहुत ही आसान है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here