क्रिप्टोकरंसी को हिंदी में क्या कहते हैं?

0
626

आप सभी जानते हैं कि जिसको देखो वह पैसे के पीछे भाग रहा है उसी पैसे की दूसरा नाम है क्रिप्टोकरंसी cryptocurrency करेंसी के पीछे सभी लोग भाग रहे हैं. बहुत ही कम समय में  क्रिप्टोकरंसी cryptocurrency ने फाइनेंसर मार्केट में अपनी सत्ता मजबूत कर दी है ,क्योंकि क्रिप्टोकरंसी cryptocurrency को डिजिटल मनी भी कहा जा सकता है यह केवल ऑनलाइन ही उपलब्ध है। और इसे हम फिजिकली लेन-देन नहीं कर सकते है।

 दूसरी करेंसी जैसे कि भारत में रुपए ,यूएसए में डॉलर, यूरोप में यूरो इत्यादि सरकारी देश में लागू करती हैं और इस्तेमाल में लाए जाते हैं ठीक वैसे ही इन करेंसी को भी पूरे दुनिया में इस्तेमाल किए जाते हैं। लेकिन यह समझने वाली बात है कि इन क्रिप्टोकरंसी cryptocurrency  के ऊपर गवर्नमेंट का कोई कोई भी हाथ नहीं होता क्योंकि यह Decentrallized Currency करेंसी होती है इसलिए इनको पर कोई भी एजेंसी सरकार का कोई अधिकार नहीं होता, जिसके चलते इसके मूल्य को regulate नहीं किया जा सकता.

आज हम आपको क्रिप्टोकरेंसी crypto currency के बारे में ही बताने वाले हैं कि क्रिप्टोकरंसी crypto currency होती क्या है, इसका हम कैसे यूज कर सकते हैं, इसके बारे में हम आपको विस्तारपूर्वक बताएंगे तो चलिए आपको इसके बारे में बताते हैं.

क्रिप्टोकरेंसी क्या है

क्रिप्टो करेंसी Cryptocurrency को डिजिटल करेंसी कहा जाता है, यह  एक तरह का डिजिटल एसिड Digital Asset होता है। जिसका इस्तेमाल चीजों को खरीदने या सर्विस लेने के लिए किया जाता है. इन करेंसी currency में क्रिप्टोकरंसी Cryptocurrency का इस्तेमाल होता है. यह एक Peer to Peer Electronic System होता है। जिसके इस्तेमाल से हम इंटरनेट के माध्यम से रेगुलर करेंसी की जगह हम गुड्स और सर्विस को खरीद सकते और भेज सकते हैं. इस व्यवस्था में सरकार ने बैंक को बिना बताए भी काम हो सकता है,  कुछ लोगों का मानना है कि Cryptocurrency का इस्तेमाल गलत तरीके से भी किया जा सकता है. अगर हम पहले क्रिप्टो करेंसी Cryptocurrency की बात करें ,तो वह होगा बिटकॉइन Bitcoin जिसे सबसे पहले दुनिया में इन्हीं कार्य के लिए लाया गया था. अगर आज हम देखें तो लगभग 1000 से भी ज्यादा क्रिप्टोकरंसी Cryptocurrency पूरी दुनिया में मौजूद है, लेकिन उनमें से कुछ ही ज्यादा महत्वपूर्ण है इसके विषय में हम आगे चलकर आपको बताएंगे कि  Cryptocurrency  को बनाने के लिए क्रिप्टोग्राफी cryptography का इस्तेमाल होता है.

हम अगर हम बात करेंगे क्रिप्टोकरंसी cryptocurrency की तो सबसे पहले जो प्रसिद्ध हुआ है वह क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन cryptocurrency bitcoin है। इससे पहले बनाया गया था और सबसे ज्यादा इस्तेमाल भी में भी इसी का किया जाता है. बिटकॉइन को लेकर काफी controveries आई लेकिन आज भी बिटकॉइन क्रिप्टोकरंसी सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है.

Read More: UPI ka Full Form Kya Hai

Cryptocurrencies में invest कैसे करें?

क्रिप्टोकरेंसी crypto currency में इन्वेस्ट करने के लिए आपको सही प्लेटफॉर्म का पता होना जरूरी है ,जिसमें आप सही प्लेटफार्म चुनकर उसमें क्रिप्टोकरंसी crypto currency को इन्वेस्ट कर सकते हैं जिसमें आपको ज्यादा फीस देनी नहीं होती है। ऐसा ही भारत में अभी के समय सबसे पॉपुलर  Cryptocurrency प्लाट्फ़ोर्म है “Wazirx“। इसमें investment करना और ट्रेडिंग करना बहुत ही आसान है और इसके फाउंडर भी एक भारतीय ही हैं मैं भी इसी में इन्वेस्ट कर रहा हूं कई वर्षों से आप चाहे तो इसमें अपना इनमें पैसा इन्वेस्ट कर सकते हैं.

Cryptocurrencies के प्रकार

1. Bitcoin (BTC)

अगर हम क्रिप्टो करेंसी crypto currency की बात करें तो bitcoin इनकी बात ना हो तो यह बिल्कुल नहीं हो सकता, क्योंकि बिटकॉइन bitcoin दुनिया में सबसे पहले क्रिप्टोकरंसी है। जिसे Satoshi Nakamoto ने 2009 में बनाया था यह डिजिटल करेंसी है जिससे कि केवल ऑनलाइन ही गुड्स और सर्विस को खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जाता है, यह एक डी सेंट्रल लाइज de-centralized currency करेंसी है जिसका मतलब है कि इस पर गवर्नमेंट का कोई भी हाथ नहीं होता। इसके मूल्य आज के समय में बहुत ही बढ़ गया है जो कि अब लगभग 1300000 के करीब है एक कॉइन का मूल्य है इसके इससे आप वर्तमान के महत्व के बारे में पता लगा सकते हैं.

2.Ethereum (ETH)

बिटकॉइन Bitcoin जैसे कि एथेरियम ethereum भी ओपन सोर्स डिसेंट्रलाइज्ड ब्लॉकचेन बेस्ट कंप्यूटिंग प्लेटफार्म open-source, decentralized blockchain-based computing platform है. इसके फाउंडर का नाम Vitalik Buterin है. इसके क्रिप्टोकरंसी टोकन को ‘Ether’ भी कहा जाता है। यह  प्लेटफार्म उसके यूजर को डिजिटल टोकन बनाने में मदद करता है जिसकी मदद से इसे करेंसी के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। एक Hard Fork के होने से दो हिस्सों में विभाजित किया गया है Etherem (ETH) और Etheriem Classic (ETC). Bitcoin के बाद ये दूसरा सबसे प्रसिद्ध Cryptocurrency है.

3. Litecoin (LTC)

Litecoin  को इन भी एक डिसेंट्रलाइज पियर पियर क्रिप्टोकरंसी decentralized peer to peer cryptocurrency  है। जिसे की एक ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर जो कि रिलीज हुआ है। अंडर द एमआईटी फ्लैश X11 under the MIT/X11 license लाइसेंस के अंतर्गत ,इसे 2011 में Charles Lee के द्वारा बनाया गया था। इसे बनाने के पीछे Bitcoin का बड़ा हाथ है। इसकी बहुत सारी फीचर बिटकॉइन से मिलती जुलती है. Litecoin को उनकी ब्लॉक की जनरेशन की टाइम बिटकॉइन के मुकाबले 4 गुना कम है, इसलिए इसमें ट्रांजैक्शन बहुत बहुत ही जल्दी हो जाती है इसमें स्क्रिप्ट एल्गोरिदम का इस्तेमाल होता है इसे माइनिंग mining करने के लिए किया जाता है,

4. Dogecoin (Doge)

Dogecoin इनको बनाने के लिए इसके पीछे एक रोचक कहानी है इसे बिटकॉइन को मजाक करने के लिए कुत्ते से उसकी तुलना की गई आगे चलकर या क्रिप्टोकरंसी के रूप में बन गई। इसके फाउंडर का नाम है Billy Markus,Litecoin की तरह ही इसमें भी Scrypt Algorithm का इस्तमाल होता है..

 आज Dogecoin मार्केट वैल्यू $197 million  बिलियन से भी ज्यादा है ,इसे पूरे विश्व में 200 मर्चेंट से भी ज्यादा स्थापित किया जाता है इसमें भी माइनिंग का उपयोग किया जाता है.

आज आपने जाना क्रिप्टोकरंसी क्या होती है, क्रिप्टो करेंसी कैसे काम करती है. फिर क्रिप्टोकरंसी के कितने टाइप होते हैं इसके बारे में हमें आपको विस्तार पूर्वक बताया यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here