CSC का फुल फॉर्म क्या होता है ?

0
2086
CSC ka Full Form Kya Hota Hai

कॉमन सर्विस सेंटर भौगोलिक स्थिति में कई लेन-देन की सुविधा के लिए एक मंच प्रदान करते हैं। इन केंद्रों की स्थापना सरकार द्वारा उन क्षेत्रों में ई-सेवाएं प्रदान करने की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से की गई है जहां इंटरनेट और कंप्यूटर की उपलब्धता न्यूनतम है। आज हम बात करेंगे CSC क्या होता है,I CSC का फुल फॉर्म क्या होता है, CSC को हिंदी में क्या कहते हैं ,इसके बारे में हम आपको संपूर्ण जानकारी देंगे।

CSC का फुल फॉर्म?

CSC का फुल फॉर्म Common Services Centers कहा जाता है। इसे हिंदी में सामान्य सेवा केंद्र (CSC) कहा जाता है।

CSC क्या होता है?

भारत सरकार द्वारा अपनी ई-गवर्नेंस सेवाओं को भारतीय नागरिकों के दरवाजे तक ले जाने के लिए भारत निर्माण के तहत सीएससी यानी कॉमन सर्विस सेंटर की शुरुआत की गई है। CSC में पूरे भारत में 100,000 से अधिक CSC (कॉमन सर्विस सेंटर) का निर्माण शामिल है।

CSC का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में आवश्यक सेवाएं प्रदान करना है। सीएससी के माध्यम से भारतीय नागरिकों को कृषि, स्वास्थ्य, मनोरंजन, शिक्षा, बैंकिंग और वित्तीय सेवाएं, उपयोगिता भुगतान और कई अन्य सेवाएं प्रदान की जाती हैं। VLE (Village Level Entrepreneur) सीएससी के लिए काम करता है।

CSC में G2C (गवर्नमेंट टू कंज्यूमर), B2C (बिजनेस टू कंज्यूमर) और B2B (बिजनेस टू बिजनेस) सेवाएं प्रदान की जाती हैं।

CSC कैसे काम करता है?

सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) को चलाने के लिए प्रत्येक केंद्र पर एक वीएलई (ग्राम स्तरीय उद्यमी) का चयन किया जाता है, जो सीएससी की सेवाएं लोगों तक पहुंचाता है।

सरकार से नागरिक (G2C) –

CSC का महत्वपूर्ण कार्य भारत सरकार और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही कई प्रकार की सेवाओं को डिजिटल माध्यम से आम लोगों तक पहुंचाना है।

सीएससी पर बी2सी यानी बिजनेस टू कस्टमर सर्विस का भी लाभ उठाया जा सकता है।

Read More: PCO ka Full Form Kya Hota Hai

भारत बिल पे-

भारत बिल पे सीएससी पर उपलब्ध महत्वपूर्ण सेवाओं में से एक है, जिसके उपयोग से कोई भी किसी भी प्रकार के बिल का भुगतान कर सकता है, चाहे वह बिजली बिल, मोबाइल रिचार्ज, मोबाइल बिल भुगतान, ब्रॉडबैंड और लैंडलाइन बिल भुगतान हो। डीटीएच रिचार्ज हो, गैस बिल हो, पानी का बिल हो, सब कुछ एक जगह से सुरक्षित और मज़बूती से किया जा सकता है।

पासपोर्ट सेवा-

विदेश मंत्रालय, भारत सरकार ने सीएससी के साथ भागीदारी की है, जिसके तहत आम लोग पासपोर्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं, शुल्क का भुगतान कर सकते हैं और सीएससी केंद्र से ही अपनी नियुक्तियों का समय निर्धारित कर सकते हैं।

यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सेवा है, जिसके लिए अब आप लोगों को किसी बड़े शहर में जाने की जरूरत नहीं है।

पैन कार्ड सेवा

सीएससी केंद्र के माध्यम से कोई भी व्यक्ति नए पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकता है, या अपने पुराने पैन कार्ड में किसी भी बदलाव के लिए भी आवेदन कर सकता है।

फास्टैग सेवाएं-

2020 से ही सभी तरह के चार पहिया वाहनों के लिए FASTag का इस्तेमाल अनिवार्य कर दिया गया है।

कॉमन सर्विस सेंटर से FASTag प्राप्त किया जा सकता है, जिसके माध्यम से किसी भी हाईवे पर टोल भुगतान अपने आप हो जाएगा।

Read More: ASAP ka Full Form Kya Hota Hai

नौकरी आवेदन सेवाएं-

कई प्रकार की सरकारी और निजी नौकरियों के लिए लोग सीएससी के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं, साथ ही गांव में काम करने वाले लोग भी सीएससी के माध्यम से अपना मनरेगा कार्ड बना सकते हैं।

कृषि संबंधी सेवाएं

सीएससी में कृषि से संबंधित कई प्रकार की सेवाओं का भी लाभ उठाया जा सकता है, जैसे अपनी फसल को बेचने के लिए आवश्यक व्यवस्था करना, फसल की सही कीमत जानना, भूमि स्वास्थ्य कार्ड प्राप्त करना, मौसम की सटीक जानकारी प्राप्त करना आदि।

बीमा सेवाएं-

कॉमन सर्विस सेंटर पर भी सभी प्रकार की दोष बीमा सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है

चाहे नया बीमा लेना हो या अपने बीमा के प्रीमियम का भुगतान करना हो, सीएससी पर सब कुछ आसानी से किया जाता है।

किसानों को अपनी फसल का बीमा कराने के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं है और किसान भी सीएससी पर ही फसल बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं।

चुनाव आयोग सेवाएं-

चुनाव आयोग से संबंधित विभिन्न प्रकार की सेवाएं जैसे कि मतदाता सूची में नाम जोड़ना या अपने मतदाता पहचान पत्र में कोई सुधार आदि प्राप्त करना भी सीएससी पर प्राप्त किया जा सकता है।

Read More: ECS ka Full Form Kya Hota Hai

यात्रा बुकिंग सेवाएं-

सीएससी से विभिन्न प्रकार की यात्रा बुकिंग जैसे बस टिकट ट्रेन टिकट हवाई जहाज टिकट बुकिंग भी की जा सकती है।

कोई व्यक्ति कैसे नया सीएससी खोल सकता है?

कोई भी इच्छुक व्यक्ति जिसने कम से कम 10 वीं कक्षा तक की पढ़ाई की हो, और जिसे कंप्यूटर का बुनियादी ज्ञान हो, वह वीएलई यानी विलेज लेबल एंटरप्रेन्योर के लिए नए सीएससी के लिए पंजीकरण कर सकता है।

रजिस्ट्रेशन के लिए आपको नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा-

register.csc.gov.in

एक नया सीएससी खोलने के लिए कम से कम 200 वर्ग फुट जगह और अच्छे कॉन्फ़िगरेशन और इंटरनेट कनेक्टिविटी वाले कंप्यूटर की आवश्यकता होती है।

सीएससी खोलकर एक व्यक्ति अपने लिए रोजगार प्राप्त कर सकता है और इस डिजिटल माध्यम से अपने आसपास के लोगों को कई आवश्यक सेवाएं भी प्रदान कर सकता है।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लेगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं ,यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here