साइबर क्राइम (Cyber Crime) क्या है जानिए इसके बारे में 

0
65
Cyber Crime

जैसा कि आप लोग भी जानते हैं कि भारत देश में रोजाना तरह तरह की घटनाएं घटती रहती हैं कोई किसी को मार रहा है कोई किसी को रास्ते में पकड़कर पीट रहा है इत्यादि ऐसे केस रोजाना पुलिस स्टेशन में दर्ज करवाई जाते हैं जिसे हम केस कहते हैं लेकिन बात की जाए साइबर क्राइम की दो साइबरक्राइम Cyber Crime घर बैठकर कंप्यूटर द्वारा किया जाता है जिस जिस में एक वायरस डालकर उसके सामने वाले के पास पहले कंप्यूटर में दिया जाता है जिससे कि उसकी सारी डिटेल उसके पास आ जाती है और वह उसके पैसे वगैरह सब लूट कर चले जाते हैं। 

साइबर क्राइम cyber crime क्या है ?

साइबर क्राइम cyber crime कंप्यूटर डिवाइस द्वारा किए जाने वाला एक ऑनलाइन अपराध है जोकि दूसरी यूजर की निजी जानकारी उसके बिना पूछे चुराना पैसे निकाल लेना हैकिंग करना इत्यादि साइबरक्राइम cyber crime कहलाते हैं जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज के समय में सभी के पास फोन लैपटॉप आसानी से मिल जाते हैं लोग इसका इस्तेमाल भी करते हैं क्योंकि लोग आजकल वाला इतना विश्वास ज्यादा करने लग गई है कि वह लोगों की बात में आ जाते और ऑनलाइन ठगी चोरी का शिकार हो जाते हैं जिसे हम साइबरक्राइम cyber crime कहते हैं यह अलग प्रकार के होते हैं जिसके बारे में हम बता रहे हैं.

साइबर क्राइम आपको बता दें कि लोग साइबरक्राइम करने के लिए सबसे पहले वायु जल की सारी जानकारी खट्टा कर लेते हैं जैसे कि क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड के नंबर बदल अकाउंट के पैसे निकालने के लिए सभी जानकारी उनके पास होती है वह सभी जानकारी होने के बाद वह कस्टमर बंद कर व्यक्ति को कॉल करते हैं उसे कहते हैं कि आपकी यह पेमेंट भी हो चुकी है आपको उसकी पेमेंट कर आनी चाहिए चाहे यह स्टोरी की कोई लड़का आता है आपको कहता है कि आपका कोरियर आया है और उसका पैसा आपको देना है आप मना कर दे कि पैसा मेरे पास पैसे नहीं है मैं पेटीएम करूंगी इसमें क्या होता है वह अगले को बताते हैं कि यह आर्डर कैंसिल करने के लिए आपको टोपी देना होगा वो टोपी देते ही उनका पैसा खाली हो जाता है जिसे हम साइबर क्राइम कहते हैं 

Also Read: GPS ka Full Form Kya Hota Hai? What is the Full Form of GPS?

साइबर क्राइम के प्रकार 

साइबर स्टॉकिंग आपको बता दें कि यह मुख्य रूप से सोशल मीडिया पर देखने को मिलता है जिसमें आपका फेसबुक इंस्टाग्राम ईमेल आईडी जीमेल साइड इत्यादि शामिल होते हैं जिसमें सामने वाला आपके सारे पार्टी पासवर्ड जानता है और छोटी सी छोटी चीजों पर ध्यान रखता है जैसे कि इस प्रकार की पोस्ट आपने कब डाली ईमेल कब किया कौन सा ईमेल आपके पास रिसीव हुआ यह सभी साइबरस्टॉकिंग के अंदर आती है,

ऑनलाइन ठगी करना 

आजकल ऑनलाइन नहीं करना हमारे देश में सबसे आम बात हो गई है जिसे सहायक साइबर क्राइम माना जाता है इसके तहत अपराधी के द्वारा ऑनलाइन हैकिंग के दौरान अगले का नेट बैंकिंग हैक करके उसके सारे पैसे जानकारी चुरा लेती जाती है और उसके अकाउंट में जुड़े हुए छोड़ कर कुछ मैसेज भी तो किया जाता है वहीं दूसरी बात की जाए ऑनलाइन ठगी के पश्चात भी लोग फोन करके लोगों को परेशान करते हैं और अपना कार्ड डेबिट कार्ड सारे सेंड कर देते हैं जिससे कि उनके पैसे देकर जाते हैं लेकिन ग्राहकों नहीं मिलते जिसे हम ऑनलाइन ठगी कहते हैं यह भी एक साइबर क्राइम के अंदर आती है.

हैकिंग 

हैकिंग बड़ा क्राइम है साइबर क्राइम के अनुसार इसमें सामने वाले व्यक्ति का डाटा चोरी हो जाता है और उसका अकाउंट खाली हो जाता उसे पता भी नहीं लगता जिससे हैकिंग कहते हैं किंग में एक सॉफ्टवेयर कोड जलाकर दूसरे के सिस्टम को हैक किया जाता है फिर हैकर सिस्टम को कंप्यूटर के कई नेटवर्क साथ जोड़कर इतने सारे सिग्नल कोई देश में भेज देता है कि वह पुलिस वालों को कंफ्यूज करके हैकिंग करके चला जाता है। 

Also Read: Cloud Computing ko Hindi me Kya Kehte Hai? What is Called Cloud Computing in Hindi?

वायरस सॉफ्टवेयर 

यह भी एक तरह की साइबर क्राइम के अंदर आती है जिसमें हैकर को द्वारा वायरस सॉफ्टवेयर के जरिए साइबर क्राइम को अंजाम दिया जाता है आपको बता दें कंप्यूटर वायरस एक विशेष प्रकार का प्रोग्राम का समय होता है जो कि किसी अन्य युवक की सिस्टर में जाकर उसका डाटा चोरी कर लेता है फिर भागने वाले को वही डाटा से उसके कंप्यूटर से किसको दिखता है। 

साइबर बुलिंग– साइबर बुलिंग– एक तरह का साइबरक्राइम माना जाता है जिसके अंतर्गत सोशल मीडिया पर लोगों को सहायता के जरिए परेशान किया जाता है इसमें लोगों से पहले प्यार भरी बातें की जाती है फिर उनसे दोस्ती बढ़ाकर उसे नजदीकी बढ़ाई जाती है बाद में उनके प्राइवेट पार्ट की पिछले लेकर लोग उन्हें ऑनलाइन ब्लैकमेल करते हैं उसे पैसे मांगते हैं जिसे लोग साइबर बोली भी कहते हैं

भारत में साइबर क्राइम सबसे अधिक होने की वजह 

भारत में सबसे ज्यादा भारत में सबसे ज्यादा साइबरक्राइम होने की वजह खुद लोग हैं क्योंकि आजकल लोग इतना इंटरनेट की दुनिया में खो गए हैं कि लोग सामने वाले को पहचानने से भी इंकार देख कर देते हैं क्योंकि वह पूरे दिन सोशल मीडिया पर इस टकराव व्हाट्सएप क्रोम में सर्चिंग बार में पता नहीं क्या से क्या सर्च करते रहते हैं जिसका इस्तेमाल उनके सामने हैकर कर रहे होते हैं आज के समय में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं व्यक्ति कर रहा है परंतु सागर कृपा क्राइम के प्रति जागरूक ना होने के कारण सरोज यादव महिला ही शिकार बनती है भारत के आंकड़ों के अनुसार बताया जाता है कि एक तिहाई महिलाएं साइबरक्राइम का शिकार बन चुकी है जिनमें से 35 फ़ीसदी औरतें ऐसी है जिन्हें अपने ऊपर विश्वकर्म की शिकायत दर्ज नहीं करवाई.

Also Read: ODBC ka Full Form Kya Hota Hai? What is the Full Form of ODBC?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here