जानिए आइटीआर (ITR) क्या होता है? इसको हम कैसे फाइल कर सकते हैं 

0
66
Income Tax Return

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आजकल हर व्यक्ति अपनी आय की जानकारी इनकम टैक्स को देता है ताकि सरकार को उसे पता होगी उसकी आय कितनी है और उस पर कितना टैक्स लगना चाहिए ,लेकिन सरकार हर किसी व्यक्ति से उसकी आय पर टैक्स नहीं रहती है केवल कुछ लोगों को ही अपनी आय पर सरकार को टैक्स देना होता है हर व्यक्ति को अपने आय के अनुसार इनकम टैक्स भरना होता है इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होता है जिसको आइटीआर कहा जाता है आइटीआर क्या होता है कि अब हम कैसे फाइल करते हैं इसके बारे में आपको सबको जानकारी देंगे चलिए आप उसके बारे में बताते हैं.

आइटीआर क्या होता है ?

आइटीआर का मतलब होता है इनकम टैक्स रिटर्न इनकम income tax return टैक्स रिटर्न आय पर लगती है जो टैक्स केंद्र सरकार द्वारा वसूला जाता है उस टैक्स को इनकम टैक्स नाम दिया गया है.

Also Read: INR ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of INR?

आपको बता दो कि इनकम टैक्स भरने के लिए आपको एक फॉर्म फिल करना होता है जिसे हम आईटीआर ITR कहते हैं इस टैक्स के दौरान सरकार जो राशि प्राप्त होती है उस पैसे को सरकार देश के डेवलपमेंट के लिए खर्च करती है. यह फॉर्म आईटीआई के रूप में भरना होता है। आप ने 1 साल में कुल कितनी कमाई करते हैं आप उसमें सरकार को कितना टैक्स दिया है हर व्यक्ति को अपनी आय के अनुसार ही इनकम टैक्स भरना होता है आइटीआर सीधा इनकम टैक्स विभाग के पास जाती है। 

आपको यह भी बता दें कि अगर कोई व्यक्ति गलती से किसी साल अपनी आइटीआर नहीं भरता है तो उस व्यक्ति को कंप्लेंट करने का पर आयकर विभाग एक्स्ट्रा टैक्स वापस कर देती है। जो कंपनियां फिर व्यक्ति आइटीआर भरता है उस व्यक्ति की सरकार के द्वारा तारीख दी जाती है और फिर उस कंपनी या फिर व्यक्ति को उस तारीख तक आइटीआर भरनी होती है। 

कौन फाइल कर सकता है आइटीआर 

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं इनकम टैक्स और किसी व्यक्ति को भरने की आवश्यकता नहीं होती केवल कुछ ही लोगों को यह भरने की आवश्यकता होती है जिनकी आय ज्यादा होती है या कंपनियां जिनके प्रॉफिट ज्यादा होते हैं। उन्हें इनकम टैक्स भरने की आवश्यकता होती है। 

आपको बता दें कि इसके लिए एक एक्टर बना हुआ है जो इस प्रकार है इनकम टैक्स एक्ट 1961 की धारा के मुताबिक केवल वही व्यक्ति इनकम टैक्स फाइल करेगा जिसकी सालाना आय ढाई लाख से अधिक है भारत में जितनी सरकारी या प्राइवेट कंपनियां कार्य करती है वह सभी की सालाना आय मुताबिक इनकम टैक्स फाइल करना होता है। जिससे कि सरकार इनकम टैक्स लेती है अगर कोई व्यक्ति अपना बिजनेस करता है लेकिन भारत का निवासी है तो उस व्यक्ति को इनकम टैक्स फाइल करना अनिवार्य होता है.

Also Read: NRA ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of NRA?

भारत में सभी स्कूल ,हॉस्पिटल को भी उनकी आय के मुताबिक इनकम टैक्स फाइल करना होता है। अगर कोई व्यक्ति 80 साल का है और उस व्यक्ति की सलाह है उसे अधिक है तो उस व्यक्ति को भी इनकम टैक्स फाइल करना बहुत ही आवश्यक है। अगर कोई व्यक्ति विदेश यात्रा में 200000 से अधिक खर्च करता है तो उस व्यक्ति को भी आइटीआर फाइल करने की आवश्यकता है यह सभी लोग इनकम टैक्स भरने के लिए होते हैं.

आइटीआर भरने के क्या लाभ है 

आइटीआर भरने की वजह से बहुत सारे लाभ है जोकि कंपनियों और व्यक्ति को प्राप्त होती है जो इस प्रकार है बिजनेस बढ़ाने में जो लोग आइटीआर भरते हैं उनको बिजनेस बढ़ाने में मदद मिलती है वैसा ही अगर आप सही समय पर आइटीआर भरते हैं तो उसकी वजह से आपको बहुत फायदा होता है. क्योंकि कई सरकारी कंपनी है प्राइवेट कंपनियों ने बिजनेसमैन से संभाल लेती है जो लगातार कुछ समय जैसे 5 या 7 साल से अपना आइटीआर समय पर भर रहे हैं और अधिक सामान बिकेगा तो आपका बिजनेस भी बड़ा होगा। 

बड़ा बीमा करवाने में आसानी ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बड़ी कंपनी बीमा करवाने के लिए आइटीआर मांगती है अगर आप पर आइटीआर फाइल किया है तो आपको बड़ा बिमा आसानी से मिल जाएगा।

आप विदेश जाना चाहते हैं तो यदि आपने आईटीआर फाइल किया है तो आपको आसानी से वीजा मिल जाएगा आइटीआर भरने से लोन लेने के लिए होती है. आसानी यदि आप आइटीआर हैं तो आइटीआर दिखाकर बैंक वाले आपको आसानी से लोन दे सकती है क्योंकि अगर आपने आईटीआई भरा है तो लोग आप पर विश्वास करते हैं विश्वास के चलते ही बैंक आपको लोने देता है आप आसानी से कर सकते हैं कोई भी प्रॉपर्टी यदि आप बड़ी प्रॉपर्टी में निवेश करना चाहते हैं और आपका एक आपने आइटीआर फाइल करी है और आप साल भर रहे हैं तो आप आसानी से बड़ी प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं इसके लिए आपको बैंक के सता पड़ती है पड़ती है क्योंकि वहां से पैसे की लेनदेन करनी होती है।

आपका हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं धन्यवाद

Also Read: RAC ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of RAC?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here