मिशन शक्ति (Mission Shakti) क्या है जानिए

0
77
Mission Shakti

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारत देश में रोजाना तरह तरह की घटनाएं होती है वह घटना में से एक है महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचारों के बारे में बात की जाए तो उत्तर प्रदेश में उत्तर प्रदेश में जनसंख्या कितनी है कि यहां पर रोजाना महिलाओं लड़कियों के साथ उत्पीड़न के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं सबसे बड़े प्रदेश होने के कारण है इसका छोटे-छोटे शहरों में रोज उत्पीड़न आते रहते हैं उनके लिया यूपी सरकार ने मिशन शक्ति लॉन्च किया है शक्ति क्या है जाते हैं इसके बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे। 

मिशन शक्ति mission shakti का अभियान क्या है 

आपको बता दें कि मिशन शक्ति को 21 अगस्त 2022 को लांच किया गया जो कि सबसे पहले उत्तर भारत सरकार ने तीसरे चरण यानी मिशन शक्ति 3.0 की शुरुआत इसके तहत मुख्यमंत्री योगी ने महिलाओं को पेंशन योजना के तहत 29 लाख महिलाओं के खाते में 451 करोड़ रुपए डाले और यूपी में बढ़ रही घटनाओं को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश की सरकार ने शक्ति अभियान की शुरुआत की.

मिशन शक्ति का मतलब है यूपी में बढ़ रहे महिलाओं के प्रति अपराधों को रोकने के लिए यूपी में मिशन शक्ति की शुरुआत की गई इस अभियान के अंतर्गत राज्य की महिलाओं बालिकाओं की सुरक्षा के लिए सरकार ने मिशन शक्ति के तहत उनके हितों के अधिकार को हनन करने वालों को जागरूक करने के लिए सरकार द्वारा योजना 3 चरणों में शुरू की गई जिसमें पहले महिलाओं बच्चों और बालिकाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण के कार्यक्रम द्वारा जागरूक किया जाएगा और उसके बाद इस अभियान को पूरे राज्य में चालू किया जाएगा जिससे कि महिलाओं और बालिकाओं में हो अपराध को रोका जा सके और दोषियों को पकड़कर सजा दी जा सके इसलिए इस अभियान को मिशन शक्ति का नाम दिया गया.

Also Read: MICR ka Full Form Kya Hota Hai? What is the Full Form of MICR?

मिशन शक्ति Mission Shakti का उद्देश्य

मिशन शक्ति Mission Shakti का उद्देश्य है यूपी में बढ़ रही महिलाओं के खिलाफ अपराधों को रोकने के लिए सरकार ने निशा शक्ति का मिशन शक्ति का की योजना लांच की जिसके तहत महिलाएं बच्चों और लड़कियों के खिलाफ हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए तरह-तरह के कमेटियां बनाई गई है जिसके तहत अलग-अलग राज्यों और जिलों में यह कमेटी अपने राज्य में हो रहे लड़कियों के खिलाफ अत्याचार को रोकने के लिए कार्य करती है यदि किसी के साथ कोई अत्याचार होता है तो वह अपने पास के जिले ऑफिस में जाकर बता सकता है,तथा उसे रोकने के लिए यूपी सरकार इस मिशन के तहत काम करेगी और जो दोषी पाया जाएगा उस को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी इसलिए समय की शुरुआत की गई.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस योजना को मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के द्वारा 2 अप्रैल 2022 को इस अभियान की शुरुआत की गई। 

जिसके अंतर्गत सभी गतिविधियों पर नियंत्रण रखने के लिए इस योजना का आयोजन किया गया इस अभियान के अंतर्गत मुख्यमंत्री जी ने स्कूल-कॉलेज बाजार और भीड़ वाली जगहों पर विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए इसके अलावा मुख्यमंत्री के गृह विभाग से 100 दिन दिन का कार्य योजना के तहत प्राथमिकताएं तय करके तेजी से कार्य करने का निर्देश दिया गया.

पुलिस विभाग में 100 दिन कम से कम 10000 पुलिस की भर्ती करने के भी निर्देश दिए गए। जिससे कि उनको अलग-अलग स्थानों में किया जा सके वह जल्दी से जल्दी लोगों की मदद कर सके इसलिए इस अभियान के तहत संगठन को जोड़ा गया जोकि महिलाओं की साथ हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए साथ काम कर सके। 

Also Read: GPRS ka Full Form Kya Hota Hai? What is the Full Form of GPRS?

मिशन शक्ति की विशेषताएं 

आपको बता देंगे शक्ति के अंतर्गत अब तक 24 विभागों को जोड़ा जाए गया है जिसके अंतर्गत सभी संगठन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सामाजिक रूप से कार्य करते हैं.

अभियान को लेकर सरकार ने पहले ही साफ कर दिया था कि कोई भी रेप केस व्यवस्था पहले काम किया जाएगा जो सदस्य को पकड़ा जाएगा उन्हें कठोर सजा दी जाएगी। 

उसके बाद ही कुछ दूसरे कदम उठाए जाएंगे इस अभियान के तहत पुलिस थाने में महिलाओं के लिए अलग से हेल्पलाइन बनाई गई जहां महिलाओं की पूछताछ के लिए अधिकारियों सिपाही में तैनात की जाएंगी इस मिशन के अंतर्गत राज्य की महिलाओं बालिकाओं को प्रेरित किया जाएगा क्योंकि साथ कोई दुर्व्यवहार करता है तो वह अपनी नजदीकी पुलिस में कॉल करके बता सकती हैं कि उनके साथ हो रहे अत्याचार का हल निकाल सके.

शक्ति अभियान 3.0 के कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने लगभग 2900000 महिलाओं के खातों में पैसे डाले। इसके तहत उन्होंने 173000 और लोगों को इस योजना के साथ जोड़ा है मुख्यमंत्री ने इस योजना के तहत अपने लड़कियों के खातों में ₹3000000 डाले हैं प्रदेश की 60 ग्राम पंचायत भवन में मिशन शक्ति की शुरुआत की जाएगी इस योजना के तहत तीसरे चरण में रोजगार को बढ़ावा दिया जाएगा इस योजना के तहत महिला पुलिस अधिकारी की तैनाती की जाएगी इस योजना के तहत 1286 टॉयलेट बनाए जाएंगे महिलाओं की लिए हर थाने में.

यूपी शक्ति मिशन के साथ जोड़ने के लिए मुख्य दस्तावेज

यदि आप इस मुहिम के साथ जुड़ना चाहते हैं तो आपके पास सबसे पहले उत्तर प्रदेश के निवासी होने का निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए आपको एक महिला होना आवश्यक है आपके पास आधार कार्ड निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र ऐज प्रमाण पत्र राशन कार्ड बैंक खाता की कॉपी पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ मोबाइल नंबर होना अनिवार्य के बाद ही आप इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं.

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं ताकि उसको भी इसकी जानकारी मिल सके और वह भी इस योजना को अपनी बहन माता को दिला सके.

Also Read: Algorithm ko Hindi me Kya Kehte Hai? What is Called Algorithm in Hindi?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here