SEO क्या है?

0
318
SEO

आपको बता दें कि SEO का मतलब सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन होता है SEO. का उपयोग ब्लॉगर लोग पर ज्यादा करते हैं। आज के इस डिजिटल युग में अगर आपको लोगों के सामने आप आना है तब ऑनलाइन ही एकमात्र जरिया है जिसके सहारे आप करो लोगों के सामने आ सकते हैं, यहां यह चाहे तो खुद का वीडियो के माध्यम से हो सकता है. यह आपने कंटेन के द्वारा आप लोगों तक पहुंचा सकते हैं. लेकिन ऐसा करने के लिए आपको सर्च इंजन के फर्स्ट पेज में आना होगा क्योंकि यही वह पेज है जिन्हें लोग ज्यादा ज्यादा पसंद करते हैं और ट्रस्ट भी करते हैं लेकिन यहां तक पहुंचना उतना आसान काम नहीं है क्योंकि इसके लिए आपको अपने आर्टिकल को सही ढंग से ऐसो करना होगा मतलब कि उन्हें सही तरीके से और ऑप्टिमाइजेशन करना होगा जिससे वह सर्च इंजन में रैंक हो सके और इस प्रक्रिया को ही SEO कहते हैं।

आपको बता दें कि आज तक कोई SEO में एक्सपोर्ट ने हुआ है अगर कोई कहता है कि मैं SEO मैं एक्सपर्ट हूं तो आप उसकी बातों पर विश्वास बिल्कुल मत कीजिएगा क्योंकि SEO मैं आज तक कोई मास्टर ही नहीं कर पाया है यह चीज ही ऐसी है और समय के समय के साथ और जरूरत के हिसाब से बदलती रहती है। लेकिन फिर भी गूगल SEO गाइड के कुछ फंडामेंटल है जो हमेशा एक जैसे होते हैं इसलिए जरूरी है कि ब्लॉगर हमेशा खुद नए ऐसी तकनीक से अपडेट रहें इससे आपको मार्केट में चल रहे ट्रेंड्स के बारे में पता होगा इसे आप अपने आर्टिकल को जल्दी रैंक  करवा सकते हैं.

SEO क्या है –

SEO या सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन Search Engine Optimization एक ऐसी तकनीक है जिससे हम अपने पेज को सर्च इंजन में फर्स्ट पेज पर ला सकते हैं सर्च इंजन क्या है यह हम सभी को पता है कि गूगल पुर दुनिया का सबसे पॉपुलर सर्च इंजन है इसके अलावा भी याहू जैसे और सर्च इंजन  मौजूद हैं लेकिन सबसे पहले गूगल का नाम भी आता है हम अपने ब्लॉग को सभी search engine पर No.1 position पर रख सकते हैं.

 हम गूगल में जाकर कुछ भी कीबोर्ड टाइप keyword type  करके सर्च करते हैं तो keyword से related  जितने भी आर्टिकल होते हैं वह वह आपको गूगल दिखा देता है यह कंटेंट जो हमने नजर आते हैं वह सभी अलग-अलग ब्लॉग  से होते हैं जो रिजल्ट सबसे ऊपर दिखाई देता है वह गूगल में नंबर वन पर रैंक  करता है तभी वह सबसे ऊपर अपनी जगह बनाए रखता है नंबर वन पर मतलब है उस ब्लॉग  में seo  को  बहुत अच्छी तरह से इस्तेमाल किया गया है जिसकी मदद  उसमें ज्यादा विजिटर आते हैं और इसी वजह से वह ब्लॉग हमेशा प्रसिद्ध रहता है.

आपकी वेबसाइट सर्च रिजल्ट में सबसे ऊपर हो तो इंटरनेट यूजर सबसे पहले आपकी साइड को ही विजिट करेंगे जिससे आपके साइड में ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक आने की संभावना बढ़ जाती है और आपके इनकम भी अच्छी होने लगती है अपनी वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक organic traffic बढ़ाने के लिए seo  का इस्तेमाल करना बहुत ही जरूरी है.

SEO का फुल फॉर्म क्या है?

SEO का फुल फॉर्म है “Search Engine Optimization“।

मान लीजिए आपने एक अच्छी वेबसाइट बना ली है उसमें हाई क्वालिटी कंटेंट high quality contents भी आपने पब्लिश कर दिया लेकिन अगर उस में SEO  का इस्तेमाल नहीं किया तो वेबसाइट लोगों तक नहीं पहुंचेगी और वेबसाइट बनाने का कोई फायदा नहीं होगा। अगर हम SEO का इस्तेमाल नहीं करेंगे तो जब भी कोई यूजर कोई भी कीवर्ड सर्च करेगा तो आपकी वेबसाइट में उसकी बरसे रिलेटेड अगर कोई कंटेंट मौजूद है तो तब यूज और आपके वेबसाइट को एक्सेस कर नहीं कर नहीं कर पाएगा।

ऐसा इसलिए है क्योंकि सर्च इंजन आपकी वेबसाइट को ढूंढ नहीं पाएगा ना ही आपके वेबसाइट के कंटेंट को अपने डाटा बेस पर स्टोर कर पाएगा जिससे अपने आप जैसे आपके वेबसाइट में ट्रैफिक होना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा इसलिए आपके साइड में सही ढंग SEO  से करना बहुत जरूरी है SEO  को समझना इतना भी मुश्किल नहीं है अगर आपने इसे सीख लिया तो आप ब्लॉग  को बहुत ही बेहतर बना सकते हैं इसकी वैल्यू सर्च इंजन में बढ़ सकती है.

Read More: CPU Kya Hota Hai

Search Engine Optimization के Importance

ज्यादातर यूजर इंटरनेट में सर्च इंजन का इस्तेमाल करना अपने सवालों के जवाब पाने के लिए करते हैं ऐसे में search engine द्वारा लिखे गए टॉप रिजल्ट को ही ज्यादा ध्यान देते हैं. ऐसे में अगर आप भी लोगों के सामने आना चाहते हैं.

 तब आपको भी SEO हो की मदद लेनी होगी blog  करें कराने के लिए केवल सर्च इंजन के लिए नहीं बल्कि अच्छे प्रैक्टिस के होने पर यह सब यूजर एक्सपीरियंस को बढ़ाने में मदद करता है और आपकी usability को भी बढ़ाता है.

 यूजर ज्यादातर टॉप रिजल्ट को यूजर  ट्रस्ट करते हैं और इससे वेबसाइट का ट्रस्ट बढ़ जाता है इसलिए SEO वेबसाइट के लिए बहुत ही जरूरी है प्रमोशन के लिए भी बहुत जरूरी है क्योंकि जो लोग आपके साइड को गूगल जैसे सर्च इंजन में देखते हैं तब उन्हें सोशल मीडिया जैसे की फेसबुक शेयर करते हैं.

SEO  की जो किसी भी साइड के ट्रैफिक को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है आपको किसी भी कंपटीशन में जरूर आगे रहने में मदद करता है उदाहरण के लिए अगर दो वेबसाइट सामान कीजिए बेच रही हैं तब जो वेबसाइट ऑप्टिमाइजेशन होगी वह ज्यादा कस्टमर अपनी ओर खींचती है और उनकी को भी बढ़ाती है.

SEO के प्रकार हिंदी में

SEO दो प्रकार के होते हैं, एक है Onpage SEO और दूसरा Offpage SEO है। इन दोनों का काम बिल्कुल अलग है, आइए इनके बारे में भी जानते हैं।

ऑन पेज एसईओ

ऑफ पेज एसईओ

स्थानीय एसईओ

आज आपने सीखा की SEO  क्या है यदि आपके मन में इस आजकल के बारे में कोई भी सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं यदि है आप आजकल आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ ही से शेयर भी कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here