Wednesday, December 7, 2022
HomeTechnologyबल्ब का आविष्कार किसने किया?

बल्ब का आविष्कार किसने किया?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि पुराने जमाने में हमारे घरों में लालटेन या घी के दीपक जलाए जाते थे लेकिन जब से बल्ब bulb का आविष्कार हुआ तब से घर में बल्ब bulb जलने लगे और घर में रोशनी फैल गई लेकिन कम ही लोगों को पता है कि बल्ब bulb का आविष्कार किसने किया और कब हुआ. आज हम आपको bulb आविष्कार के बारे में बताएंगे कि कैसे हुआ और किसने किया तो चलिए आपको उसके बारे में बताते हैं.

आपको बता दें कि बल्ब का आविष्कार थॉमस ऐल्वा एडीसन  ने किया था जब उन्होंने इसका आविष्कार किया तो उन्होंने पूरे विश्व में रोशनी खिलाकर पुर दुनिया का चित्र ही बदल दिया अब लोग अंधेरों से डरते नहीं थे लोग अब रोशनी का उपयोग करके कहीं भी आ जा सकते थे अब लोग घरों में रोशनी करने की बजाय अब बाहर भी बल्ब का इस्तमाल होने लगा.

बल्ब क्या है?

आपको बता दें कि बल्ब असल में एक ऐसा उपकरण है जो की रोशनी देता है यदि उसमें विद्युत को जोड़ दिया जाए तो तब यह काम करता है आपको बता दें कि यह करंट पर चलता है वही आप इस बल्ब bulb का इस्तेमाल करने मिलने पर ही काम करता है बल्ब bulb में एक तर होता है और एक जो उसका मध्यम विद्युत प्रवाह किया जाता है तो वह गर्म हो जाता है और रोशनी प्रदान करता है.

 आपको बता दें कि बल्ब का आविष्कार 1879 में हुआ था इसका आविष्कार थॉमस एडिसन ने किया था इसके पीछे क्या कहानी है. हम इसके इसको विस्तार पूर्वक आपको बताने जा रहे हैं.

आपको बता दें कि भी थी उसके इस्तेमाल से रोशनी पैदा करने का विचार सबसे पहले English Chemist Humphrey Davy  मन में आया था इस बात को लगभग 200  वर्ष से भी ज्यादा हो चुके हैं उन्हें उन्होंने ही सबसे पहले इसे दिखाया था कि जब भी विद्युत की तारों के माध्यम से परवाह किया जाता है तो तारे गर्म होकर रोशनी पैदा करती हैं वहीं उनके द्वारा तय की गई पहले जमाने के उपकरण कुछ घंटों तक की जल पाते थे लेकिन यूएसए इन्वेंटर थॉमस एडिसन को ही बल्ब का आविष्कार करने का पूरा श्रेय जाता है क्योंकि 879 को carbon filament light bulb पूरी दुनिया को पेश किया था.

एडिसन ने बल्ब जलाने के लिए अपने दिमाग की सोच को और आगे बढ़ाया और उन्होंने का तोड़ निकाला उन्होंने thin carbon filament के साथ डिजाइन का इस्तेमाल करते हुए इसमें बेहतर वैक्यूम का इस्तेमाल किया है जो कि एक आगे चलकर दोनों scientific और commercial challenges को खत्म करने में सफल रहा और अंत में लाइट बल्ब बनकर तैयार हुई.

कुछ लोगों का मानना है क्या सच में ही एडिसन ने बल्ब का आविष्कार किया लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि जिसने बल्ब का अविष्कार नहीं किया कि उनका नाम इतिहास में नहीं लिया गया.

 आपको बता दें कि इतिहास में उसमें सभी लोगों का थोड़ा थोड़ा हाथ रहा है। ऐसे ही मॉडल लाइट बल्ब का आविष्कार भी असल में एक मिलित कोशिश है बहुत से लोगों की कुछ इतिहासकारों का मानना है करीब 20 से भी ज्यादा इन्वेंटरों ने लाइट बल्ब का डिजाइन एडिशन से पहले तैयार किया हुआ था।

लेकिन इस बात से कोई भी मना नहीं कर सकता कि एडिशन का योगदान सबसे ज्यादा है लाइट बल्ब का इन्वेंशन से लेकर कमर्शियल प्रोडक्शन तक ऐसा इसलिए क्योंकि वह है ऐसे एकमात्र वैज्ञानिक थे जिन्होंने पहला commercially practical बल्ब किया था.

आपको बता दें कि जो पहले 20 वैज्ञानिकों ने बल्ब का डिजाइन तैयार किया था उसमें बहुत सारी कमियां थी जिसकी वजह से वह सफल नहीं हो पाए.

आपको बता दें कि एडिशन ने सिर्फ बल्ब का आविष्कार नहीं किया बल्कि उन्होंने बहुत सारी और भी चीजों का अविष्कार किया जैसे कि ग्रामोफोन ,मोशन पिक्चर कैमरा, कार्बन टेलीफोन ,ट्रांसमीटर ,अल्कलाइन स्टोरेज बैटरी आदि शामिल है दुनिया में (mass production)  की शुरुआत करने वाले पहले व्यक्ति एडिशन ही थे अमेरिका में उनके नाम पर 1093 या यंत्रों के अविष्कार के पैटर्न मिल जाएंगे .

Read More: Television ka Avishkar Kisne Kiya

जाने एडिशन के बारे में कुछ रोचक तथ्य

आपको बता दें कि जब एडिशन 4 वर्ष के थे तो वह बोल नहीं पा रहे थे ना कुछ सीख पा रहे थे तब उनका सिर औसत आकार से बड़ा और आगे से भाग असमय ने रूप से काफी चौड़ा था .

वर्ष 1954 में 7 वर्ष की उम्र में एडिशन ने सकूल जाना आरंभ किया और मात्र 12 हफ्तों में ही स्कूल छोड़ दिया इसका मुख्य कारण था उनके ध्यान एक जा पर फिर ना होना जिससे अध्यापक भी बहुत ही परेशान हो गए थे और उसे संभाल नहीं पाते थे अंत में उनकी मां ने उनका नाम सकूल से कटवा कर घर पर ही उन्हें शिक्षा देने का प्रारंभ किया उन्होंने घर पर 11 वर्ष की उम्र तक पर ही अपनी शिक्षा पूरी की.

आपको बता दें कि एडिशन दुनिया के एकमात्र ऐसे विज्ञानिक हैं जिन्होंने लगातार 65 वर्षों तक किसी न किसी नए अविष्कार के लिए पेटेंट शेयर करते गए.

 एडिसन ने एक निश्चय किया था कि वह किसी भी ऐसे करण का अविष्कार नहीं करेंगे जिसका बाजार में मांग ना हो और हो और वो बिके नहीं!

आपको बता दें कि जीवन के शुरुआती दिनों में एडमिशन एक टेलीग्राफ ऑपरेटर का काम करते थे इसकी कार्य किसने उन्हें आगे चलकर दूरसंचार के क्षेत्र में अनेक नए उपकरणों को बनाने की प्रेरणा दी 13 वर्ष की आयु में उन्होंने कुछ समय तक समाचार पत्र भेजने के बाद स्वयं को समाचार पत्र शुरू करने का निर्णय लिया और उन्होंने एक नीचे पर शुरू किया जिसका नाम था ‘ग्रांड ट्रंक हेराल्ड’।

आपको बता दें कि एडिशन को पहला बल्ब बनाने में डेढ़ साल का वक्त लगा था इसको तब जब जलाया गया तब यह 13 घंटे से ज्यादा समय तक जला था इसके फिलामेंट को कार्बन के धागे से बनाया गया था.

इस पोस्ट में आप ने जाना कि बल्ब का आविष्कार किसने किया और कब हुआ अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और अगर आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments