Friday, October 7, 2022
Homefull formsCOPA (कोपा) का फुल फॉर्म क्या होता है ?

COPA (कोपा) का फुल फॉर्म क्या होता है ?

आईटीआई कोर्स का क्रेज बढ़ता जा रहा है तो कई ऐसी शाखाएं हैं जिनकी सबसे ज्यादा डिमांड है। इन्हीं में से एक है मशहूर और बेहद डिमांडिंग आईटीआई ट्रेड कोपा यानी कंप्यूटर ऑपरेटर और प्रोग्रामिंग असिस्टेंट, यह कंप्यूटर और आईटी से जुड़ी ब्रांच है इसलिए युवाओं को काफी पसंद किया जाता है। यह भारत सरकार द्वारा संचालित कौशल विकास कार्यक्रम में से एक है, जो एनसीवीटी यानी नेशनल काउंसिल फॉर वोकेशनल ट्रेनिंग की देखरेख में चलाया जाता है। इस कोर्स के दौरान कंप्यूटर से जुड़ी सारी जानकारी दी जाती है, जिससे आपको कंप्यूटर को ऑपरेट करना आता है, साथ ही प्रोग्रामिंग की बेसिक नॉलेज भी दी जाती है।

मतलब इस कोर्स को करने के बाद आप कहीं भी कंप्यूटर ऑपरेटर के तौर पर काम करने के योग्य हो जाएंगे। अगर किसी छात्र की रुचि कंप्यूटर के क्षेत्र में है या वह ऐसा कोई कोर्स करना चाहता है, जिससे कम समय में कमाई शुरू हो सके तो उसे यह कोर्स जरूर करना चाहिए।

पात्रता-

  • कोई भी छात्र जिसने 10वीं कक्षा विज्ञान और गणित के पेपर से पास कर ली है वह इस कोर्स में शामिल हो सकता है।
  • कोपा पाठ्यक्रम के उद्देश्य
  • कंप्यूटर की बुनियादी बातें सीखें
  • कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर मूल बातें
  • सॉफ्टवेयर इंस्टालेशन
  • पर्सनल कंप्यूटर पर संचालन का अनुभव
  • डाटा एंट्री का काम
  • टाइपिंग स्पीड बढ़ाएं
  • जावास्क्रिप्ट और वीबीए सीखना

नेटवर्किंग

  1. Microsoft Office, Microsoft Excel, PowerPoint और अन्य जैसे महत्वपूर्ण अनुप्रयोगों पर कार्य करना
  2. इंटरनेट अवधारणाओं को जानें
  3. वेबसाइट विकास मूल बातें
  4. नेटवर्क सुरक्षा
  5. लेखांकन की मूल बातें
  6. रोज़गार कौशल
  7. पाठ्यक्रम की अवधि
  8. इस कोर्स की अवधि 1 वर्ष है जिसमें से 6 महीने की अवधि के 2 सेमेस्टर हैं

Read More: RDO ka Full Form Kya Hota Hai

कोपा प्रवेश प्रक्रिया-

अधिकांश निजी संस्थानों में सीधे प्रवेश

अधिकांश सरकारी कॉलेजों के लिए प्रवेश परीक्षा

ट्यूशन शुल्क

सरकारी संस्थानों के लिए इस कोर्स की ट्यूशन फीस 5000 के भीतर है, वही निजी संस्थानों में 40 से 50 हजार तक हो सकती है।

  • कोपा
  • कोपा सिद्धांत
  • व्यापार व्यावहारिक
  • रोज़गार कौशल

कोपा आईटीआई शुल्क

सरकार द्वारा कोपा आईटीआई टेक्निकल सर्टिफिकेशन कोर्स को काफी बढ़ावा दिया जा रहा है, इसीलिए ज्यादातर कॉलेजों में इस कोर्स की फीस बहुत कम रखी गई है।

वहीं निजी कॉलेजों में फीस अधिक है, जहां छात्रों को इस कोर्स को पूरा करने के लिए ₹5000 से ₹25000 तक का भुगतान करना पड़ सकता है।

Read More: FCI ka Full Form Kya Hota Hai

कोपा आईटीआई कोर्स के बाद करियर विकल्प

इस कोर्स को इस तरह से तैयार किया गया है कि जैसे ही कोर्स पूरा होता है, छात्र को अच्छी नौकरी मिल सकती है, और छात्र तकनीकी नौकरी करना शुरू कर सकते हैं।

आज हर काम के लिए हर जगह कंप्यूटर का इस्तेमाल हो रहा है और हर दिन कंप्यूटर का इस्तेमाल बढ़ रहा है इसलिए अगर कोई यह कोर्स करता है तो उसे अच्छी नौकरी पाने में कोई कठिनाई नहीं होती है।

CoPA ITI कोर्स करने वाले छात्रों को कई सरकारी पदों और निजी कंपनियों में कंप्यूटर ऑपरेटर और डेटा एंट्री ऑपरेटर की भूमिका में नौकरी मिलती है।

कुछ महत्वपूर्ण सरकारी विभाग जहां कोपा आईटीआई कोर्स करने वाले छात्रों को मिली नौकरी-

  1. प्रखंड कार्यालय
  2. पुलिस विभाग
  3. सरकार कल्याण कार्यालय
  4. महाविद्यालय और विश्वविद्यालय

इस कोर्स के बाद की भूमिकाएँ

कंप्यूटर ऑपरेटर

तथ्य दाखिला प्रचालक

कंप्यूटर ट्रेनर

कई छात्र इस कोर्स को करने के बाद अपना इंटरनेट कैफे भी खोलते हैं और उनमें से ज्यादातर अच्छी कमाई कर रहे हैं।

कई छात्र सरकार द्वारा प्रदान किए गए अपरेंटिस कार्यक्रम में शामिल होते हैं और अच्छी नौकरी पाने के लिए वहां से 2 से 3 साल का अनुभव लेते हैं, जैसा कि अक्सर सरकार छात्रों को रेलवे और खनन क्षेत्र में प्रशिक्षु का मौका देती है।

Read More: MCVC ka Full Form Kya Hota Hai

COPA कोर्स के बाद नौकरी के अवसर

जैसा कि आप जानते हैं कि आज कंप्यूटर का इस्तेमाल हर क्षेत्र में हो रहा है, इसलिए एक साथ इसकी काफी डिमांड है, कंप्यूटर ऑपरेटर

इसलिए कोपा कोर्स करने वाले छात्रों के लिए अच्छी नौकरी मिलने की संभावना बहुत अच्छी होती है, नौकरी के कुछ प्रमुख अवसर इस प्रकार हैं-

कंप्यूटर ऑपरेटर

  • प्रसार प्रचालक
  • ऑफिस का ऑटोमेशन
  • स्मार्ट अकाउंटिंग
  • इंटरनेट ऑपरेटर
  • वेब डिजाइनिंग
  • साइबर कैफे सेटअप
  • तथ्य दाखिला प्रचालक

स्कूलों में कंप्यूटर ट्रेनर

कोपा कोर्स करने वाले छात्रों के लिए निजी और सरकारी दोनों तरह की नौकरियां उपलब्ध हैं।

सरकारी क्षेत्र में नौकरी पाने वाले अधिकांश छात्रों को इस कोर्स के बाद कंप्यूटर ऑपरेटर या डेटा एंट्री ऑपरेटर की भूमिका मिलती है।

Read More: DCE ka Full Form Kya Hota Hai

उच्च शिक्षा के विकल्प

इस कोर्स को करने के बाद आप कंप्यूटर या किसी अन्य क्षेत्र में उच्च शिक्षा के लिए जा सकते हैं।

आप अपने 10वीं के अंक के आधार पर ही आगे के पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले सकते हैं।

वेतन

1) इस कोर्स को करने के बाद छात्र को शुरुआती सैलरी ₹10000 से ₹15000 तक मिलती है, अनुभव के साथ आपकी सैलरी बढ़ती जाएगी।

2) कई छात्र इस कोर्स को करने के बाद अपना खुद का व्यवसाय शुरू करते हैं, जैसे कुछ कंप्यूटर सेंटर शुरू करते हैं, जबकि कुछ छात्र इंटरनेट कैफे शुरू करते हैं

3) और यह देखा गया है कि लोग दोनों प्रकार के व्यवसाय शुरू करके अच्छी कमाई करते हैं।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लेगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं ,यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

Read More: IFS ka Full Form Kya Hota Hai

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments