Saturday, August 13, 2022
Homefull formsDBT का फुल फॉर्म क्या है?

DBT का फुल फॉर्म क्या है?

देश के लोगों को हर तरह की सुविधाएं facilities देने के लिए सरकार की ओर से कई योजनाएं schemes शुरू की गई हैं, जिससे लोगों की कई समस्याओं problems का समाधान हो सके. इसी तरह सरकार की ओर से डीबीटी योजना DBT scheme शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा दिया जाने वाला सब्सिडी लाभ subsidy benefit चेक, नकद भुगतान या सेवाओं या वस्तुओं पर मूल्य छूट प्रदान करने के बजाय सीधे लाभार्थी के खाते में transferred कर दिया जाता है। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से कई सरकारी कार्यक्रमों में बिचौलियों middlemen की भूमिका भी समाप्त हो जाती है, जिससे चोरी को रोका जा सकता है।

भारत को विश्व में कृषि प्रधान agricultural country देश माना जाता है, भारत सरकार समय-समय पर किसानों की सुविधा के लिए नई-नई योजनाओं के अच्छे कदम उठाती रहती है। इसी प्रकार सरकार द्वारा कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग की ओर से एक डीबीटी DBT योजना चलाई गई है। केंद्र सरकार की डीबीटी DBT पोर्टल योजना के माध्यम से किसान कृषि मशीनरी खरीद सकेंगे, जिससे किसान उन्नत खेती कर सकेंगे, जिससे देश के किसानों का भविष्य उज्जवल होगा।

आज हम आपको बताने वाले है कि डीबीटी DBT क्या होता है, डीबीटी DBT पोर्टल योजना क्या है, DBT का फुल फॉर्म क्या होता है | आपको पूरी जानकरी देंगे।

डीबीटी DBT योजना का क्या है

डीबीटी योजना DBT scheme के आने से समाज कल्याण प्रणाली social welfare system में सरकारी धन की चोरी कम हुई है। इसके बाद सरकार की ओर से डीबीटी DBT में सफलता हासिल करने के लिए 28 करोड़ से ज्यादा जनधन खाते Jan Dhan accounts खोले गए, जो इसके लिए काफी फायदेमंद साबित हुए. इसके अलावा सरकार ने आधार Aadhaar जारी करने और आधार Aadhaar नंबर को बैंक खाते से जोड़ने में सुविधा के विस्तार पर विशेष ध्यान दिया। जिससे डीबीटी DBT पहल को लागू करने में मदद मिली। वर्तमान में 15 से अधिक मंत्रालयों की 80 से अधिक योजनाएं डीबीटी DBT के अंतर्गत आती हैं।

डीबीटी DBT कृषि यंत्र योजना Krishi Yantra Yojana भारत सरकार द्वारा शुरू की गई किसानों के लिए एक योजना है, जिसमें देश के किसानों को कृषि मशीनरी agricultural machinery का लाभ मिल सकता है। केंद्र सरकार किसानों को उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए कृषि मशीनरी agricultural machinery खरीदने के लिए सहायता प्रदान करेगी और इस योजना के तहत कृषि मशीनरी agricultural machinery को सब्सिडी subsidize देने का नियम बनाया गया है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए इस योजना से किसानों को सीधा लाभ होगा, केंद्र सरकार द्वारा कृषि मशीनरी agricultural machinery पर डीबीटी सेवा DBT service शुरू की गई है। इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को कृषि मशीनरी agricultural machinery पर सब्सिडी प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

Read More: Swift Code ka Full Form Kya Hota Hai

सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले तीन साल में डीबीटी DBT लागू होने से 50,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की बचत हुई है. यूपीए के कार्यकाल के दौरान 2013-14 में डीबीटी DBT के जरिए करीब 7,367 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया, जिससे करीब 10.71 करोड़ लोगों को फायदा हुआ। एनडीए के नेतृत्व में वर्ष 2016-17 के लिए यह राशि बढ़कर 74,502 करोड़ रुपये हो गई और 33 करोड़ से अधिक लोग लाभान्वित benefitted हुए।

डीबीटी DBT का फुल फॉर्म

DBT का फुल फॉर्म “Direct Benefit Transfer” है, और हिंदी में इसका मतलब है “प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण”। इस सुविधा से सीधे किसानों के खाते में पैसा ट्रांसफर किया जाता है। इसके माध्यम से बिना किसी बिचौलिए middleman के उनके खाते में किसानों की सब्सिडी subsidy सीधे उनके खाते में ट्रांसफर transferred की जाती है। इस योजना से किसानों की आर्थिक स्थिति में बड़ा सुधार होगा।

डीबीटी का इतिहास

एलपीजी सब्सिडी LPG subsidy के डीबीटी DBT को नवंबर 2014 में शुरू करने के लिए मंजूरी दी गई थी। इस योजना को शुरू में स्वैच्छिक पंजीकरण voluntary registration के रूप में शुरू किया गया था, लेकिन अब एलपीजी सब्सिडी LPG subsidy केवल डीबीटी DBT के माध्यम से प्रदान की जाती है। वर्तमान में 17.50 करोड़ से अधिक एलपीजी उपभोक्ता LPG consumers सीधे अपने बैंक खाते में सब्सिडी subsidy का लाभ उठा रहे हैं। इसके बाद अब इस योजना की सफलता के साथ ही सरकार ने सिलेंडरों cylinders की कालाबाजारी रोकने में भी काफी मदद की है.

जहां पहले सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी subsidy या सब्सिडी राशि चेक, नकद भुगतान या सेवाओं या वस्तुओं पर मूल्य छूट के रूप में प्राप्त होती थी, अब डीबीटी योजना DBT scheme की शुरुआत के साथ ऐसा बिल्कुल नहीं होता है क्योंकि अब सरकारी सब्सिडी government subsidies लोगों को सीधे उनके बैंक खाते में ट्रांसफर किया जाएगा। तो अब इस योजना के कारण किसी बिचौलिए middleman या एजेंट की आवश्यकता नहीं है। इसके बाद इसका फायदा उठाने वाले लोग जरूरत पड़ने पर बैंक खाते में आकर उन पैसों को निकाल सकते हैं और समय पर अपना काम पूरा कर सकते हैं.

Read More: OTG ka Full Form Kya Hai

डीबीटी के फायदे

डीबीटी DBT में किसी बिचौलिए middleman की जरूरत नहीं है, इससे आपको इस माध्यम से ईमानदार धन honest money की प्राप्ति होगी।

पहले क्या होता था कि जो भी आपको सब्सिडी दिलाने में मदद कर रहा है, वह कुछ प्रतिशत राशि अपने पास रखता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा.

इससे जनकल्याण public welfare में उपयोग की जाने वाली राशि की चोरी नहीं होगी।

लाभार्थी beneficiary के बैंक खाते में पैसा आने से वह बाद में जरूरत पड़ने पर उन पैसों को निकाल सकता है। वहीं अगर हाथ में पैसा होता तो लोग उसे तुरंत खर्च कर देते, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा.

आज हमने आपको बताया कि डीबीटी का फुल फॉर्म क्या होता है. डीबीटी कैसे काम करती है. डीबीटी से हमें क्या फायदा होता है. इसके बारे में हमने आपको संपूर्ण जानकारी दी। यदि आपकी कोई सुझाव यह जानकारी देना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं. यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को आप शेयर कर कर सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments