Thursday, August 18, 2022
Homefull formsडीसी DC का फुल फॉर्म क्या होता है?

डीसी DC का फुल फॉर्म क्या होता है?

आज हम बात करने वाले हैं कि डीसी DC क्या होता है, डीसी DC घरों में कैसे काम करता है। इसके क्या फायदे नुकसान है इसके बारे में आपको बताने वाले हैं. आपको बता दें कि डीसी DC का फुल फॉर्म होता है डायरेक्ट करंट Direct Current । एक मशहूर एक्रोनीम यानि लघु रूप है।DC का इस्तेमाल हमारे घरों में लगे उपकरणों appliances को चलाने में होता है।

DC का अविष्कार कब हुआ

आपको बता दें कि डीसी का आविष्कार 18वीं शताब्दी में महान वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडिसन homas Alva Edison ने किया था।

19वीं सदी की शुरुआत तक अमेरिका में हर चीज के लिए DC का इस्तेमाल किया जाता था।

बाद में इसके ट्रांसमिशन लॉस transmission loss को ध्यान में रखते हुए एसी यानी अल्टरनेट करंट Alternate Current का चलन बढ़ा।

कहां से मिलता है DC

हम सभी अपने घरों में जो भी बिजली के डीसी उपकरण DC appliance का उपयोग करते हैं, वह एसी करंट AC current को बदलकर ही किया जाता है।

उदाहरण के लिए, यदि हम अपने घर में चल रहे टेलीविजन में आते हैं, तो एसी करंट AC current होता है लेकिन टेलीविजन इसे डीसी DC में परिवर्तित converting करके उपयोग करता है।

एसी को डीसी AC to DC में बदलने के लिए रेक्टिफायर Rectifier का उपयोग किया जाता है। जो डीसी DC बनाने का जरिया है।

इसके अलावा बैटरी और सोलर सेल से भी DC बनाया जाता है।

DC के इस्तेमाल

डीसी DC बहुत अच्छी चीज है। इसके कई उपयोग हैं जो हमारे जीवन को काफी हद तक प्रभावित करते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में-

कम बिजली low power हानि के कारण, उच्च वोल्टेज डीसी high voltage DC का उपयोग लंबी दूरी की बिजली संचरण transmission के लिए किया जाता है।

बैटरी से डीसी DC न केवल आपके वाहन को स्टार्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है, बल्कि अब ई-वाहन भी इसी डीसी DC के आधार पर भरते हैं।

डीसी DC ऑटोमोबाइल क्षेत्र में क्रांति के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। आपकी बाइक से हवाई जहाज में इस्तेमाल होने वाली बैटरियां डीसी DC द्वारा ही बनाई जाती हैं।

आपके computer, laptop, mobile से लेकर television तक सभी डीसी DC पर चलते हैं।दूरसंचार में 48 से 72 वोल्ट का डीसी करंट DC current भी प्रयोग किया जाता है।

Read More: PDF File Kese Banate Hai

DC के फ़ायदे

डीसी DC के उपयोग को जानने के बाद आप इसके फायदों के बारे में समझ ही गए होंगे। फिर भी हम आपको डीसी DC के फायदों के बारे में थोड़ा और विस्तार से बताते हैं-

डीसी करंट DC current का उपयोग लंबी दूरी के विद्युत संचरण long distance power transmission के लिए किया जाता है।

बैटरी और सोलर सेल की मदद से आप कहीं भी डीसी करंट DC current का इस्तेमाल कर सकते हैं।

घरेलू उपकरणों में इस्तेमाल होने वाली डीसी DC काफी सुरक्षित होती है। इसका मैक्सिमम वोल्टेज maximum voltage सिर्फ 12 से 48 का होता है, जिससे आपको शॉक shocked न लगे।

डीसी करंट DC current पर चलने वाले उपकरणों के साथ बिजली की बचत भी काफी होती है।

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे स्टोर करना बहुत आसान है। डीसी करंट DC current को बैटरी और सोलर सेल के जरिए आसानी से स्टोर किया जा सकता है।

DC के नुकसान

डीसी करंट DC current के कुछ नुकसान भी हैं। हालांकि, ये फायदे से काफी कम हैं।

उदाहरण के लिए, AC को DC में बदलना आसान है, लेकिन DC को AC में बदलना उतना ही कठिन difficult है।

इसके अलावा लो वोल्टेज low voltage में डीसी करंट DC current में बिजली का नुकसान बहुत ज्यादा होता है।

DC की अन्य फुल फॉर्म

Data Compression- यह एक डिजिटल सिग्नल प्रक्रिया है जिसमें डेटा को स्टोर करने के लिए compressed किया जाता है। ताकि वह कम जगह और नेट का इस्तेमाल करें।

Deputy Commissioner- यह प्रशासनिक सेवाओं में प्रयुक्त होने वाला शब्द है। इसे हिंदी में डिप्टी कमिश्नर Deputy Commissioner कहते हैं। जिले की कानून व्यवस्था और सरकारी योजनाओं को लागू करने की जिम्मेदारी के अलावा, उपायुक्त को जिले से संबंधित आर्थिक और भूमि संबंधी मामलों को देखने का अधिकार है।

District of Columbia दुनिया के सबसे विकसित शहरों में से एक और अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डीसी को पहले कोलंबिया डिस्ट्रिक्ट के नाम से जाना जाता था।

Detective Comics – अमेरिका की सबसे प्रसिद्ध कॉमिक पुस्तकों में से एक डिटेक्टिव कॉमिक्स Detective Comics थी। जिसे डीसी कॉमिक पब्लिशर ने एक कॉमिक बुक सीरीज के हिस्से के तौर पर चलाया था।

Read More: Upload ka Hindi me Kya Matlab Hai

Difference between ac and dc current

AC करंट क्या होता है?

Alternating Current (AC) को हिंदी में “”प्रत्यावर्ती धारा”” कहा जाता है। इस प्रकार के करंट Current की प्रक्रिया में, करंट Current एक निश्चित समय के बाद ही अपनी दिशा और मान बदलता है, इसलिए इस प्रकार के करंट को अल्टरनेटिंग करंट Alternating Current कहा जाता है।

Alternating Current उत्पादन अधिकतम करंट वोल्ट maximum current volts जो उत्पादित किया जा सकता है वह 33000 वोल्ट बिजली तक है। आप इस करंट को जहां भी भेजना चाहें, भेज सकते हैं और फिर जरूरत के मुताबिक वोल्टेज voltage को बढ़ा या घटा सकते हैं।

Alternating Current बहुत महंगी नहीं है, क्योंकि एसी करंट AC current आसानी से उत्पन्न किया जा सकता है। एसी करंट AC current का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे ट्रांसफॉर्मर transformer की मदद से कम या ज्यादा किया जा सकता है। इसलिए, Alternating Current को लंबी दूरी पर आसानी से भेजा जा सकता है।

DC करंट क्या होता है?

Direct Current (dc) को हिंदी में “दिष्ट धारा” कहा जाता है। इस प्रकार के करंट की प्रक्रिया में दिशा और मान direction and value नहीं बदलता है, इसलिए इसे डायरेक्ट करंट Direct Current कहा जाता है। DC करंट केवल 650 वोल्ट तक ही उत्पन्न किया जा सकता है।

आज हमने आपको बताया डीसी करंट क्या होता है ,डीसी करंट कैसे काम करता है इसके बारे में हमने आपको विस्तार पूर्वक जानकारी दी यदि आपको हमारे द्वारा बताई गई जानकारी अच्छी लगी हो, तो आप ही से अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं और आपका कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments