Wednesday, December 7, 2022
Homefull formsJCB का फुल फॉर्म क्या होता है?

JCB का फुल फॉर्म क्या होता है?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज का जमाना टेक्नोलॉजी का है, हर काम टेक्नोलॉजी की मदद से तेजी से हो रहा है, हम बात कर रहे हैं जेसीबी मशीन की जैसा कि आप सभी ने कंस्ट्रक्शन साइट पर देखा होगा कि हमें पीला रंग एक बड़ी मशीन दिखाई देती है। यह मशीन खुदाई का काम कर रही है। ऐसी मशीनों को जेसीबी कहा जाता है। JCB एक ब्रिटिश कंपनी का संक्षिप्त नाम है। यह वर्तमान समय से लगभग सात दशक पहले शुरू हुआ था। आज हम आपको बताएंगे जेसीबी (JCB) का फुल फॉर्म क्या होता है जेसीबी (JCB) को हिंदी में क्या कहते हैं इसके बारे में हम आपको संपूर्ण जानकारी देंगे।

जेसीबी का फुल फॉर्म

JCB का फुल फॉर्म “Joseph Cyril Bamford” है, यह एक “हैवी इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी” है। इसकी स्थापना जोसेफ सिरिल बामफोर्ड Joseph Cyril Bamford ने की थी। इसकी शुरुआत वर्ष 1945 में हुई थी। इसका मुख्यालय रोचेस्टर, स्टैफोर्डशायर, यूनाइटेड किंगडम Rochester, Staffordshire, United Kingdom में स्थित है। यह दुनिया की सभी निर्माण उपकरण निर्माण कंपनियों में तीसरे स्थान पर है। जोसेफ सिरिल बैमफोर्ड Joseph Cyril Bamford द्वारा 300 प्रकार की मशीनें बनाती हैं। इन मशीनों का उपयोग निर्माण कार्य, भारी वस्तुओं को उठाने, खुदाई करने, मसाले ढोने, गिराने में किया जाता है।

जेसीबी JCB कंपनी में कार्यरत कर्मचारियों की संख्या लगभग 11,000 है। साल 2012 में किए गए सर्वे के मुताबिक जेसीबी JCB कंपनी की सालाना आमदनी करीब 2.75 अरब पाउंड थी। एशिया में जेसीबी JCB की कुल 22 फैक्ट्रियां स्थापित की गई हैं और इन फैक्ट्रियों से बनी मशीनें 150 देशों में बिकती हैं।

Also Read: HTTP ka Full Form Kya Hota Hai

भारत में जेसीबी JCB कंपनी को एस्कॉर्ट्स जेसीबी लिमिटेड Escorts JCB Limited के नाम से जाना जाता था, जनवरी 2003 में इसका नाम बदलकर जेसीबी JCB कर दिया गया था। जेसीबी JCB में बनी मशीन इतनी भरी और मजबूत है कि इनसे किसी भी तरह का काम किया जा सकता है, गड्ढे खोदने से लेकर पहाड़ों को नष्ट करने तक, पहाड़ों को तबाह करने का काम जेसीबी JCB मशीन से किया जा सकता है.

इस कंपनी का पहला वाहन साल 1948 में बनाया गया था। 1948 में कंपनी के लिए 6 लोग काम कर रहे थे, जो तब हाइड्रोलिक टिपिंग ट्रेलर hydraulic tipping trailers बनाते थे। 1953 में, JCB ने अपना पहला बैकहो लोडर backhoe loader लॉन्च किया।

जेसीबी का इतिहास

इस कंपनी की पहली मशीन साल 1948 में बनाई गई थी। उस समय कंपनी में छह लोग काम करते थे। उस समय हाइड्रोलिक टिपिंग ट्रेलर hydraulic tipping trailer जोसेफ सिरिल बैमफोर्ड कंपनी द्वारा बनाया गया था। इसके बाद इसका पहला बैकहो लोडर backhoe loader जेसीबी कंपनी द्वारा वर्ष 1953 में लॉन्च किया गया था।

1953 में बैकहो लोडर backhoe loader को लोगों ने काफी पसंद किया था। इसका उपयोग वर्तमान मशीनों में किया जा रहा है। हम बैकहो लोडर backhoe loader को उत्खननकर्ता excavator के रूप में जानते हैं। यह वही मशीन है, जिसे वर्तमान में जेसीबी मशीन JCB Machine के नाम से जाना जाता है।

पहली मशीन पर 1953 में जेसीबी JCB लोगो के साथ मुहर लगी थी जिसे आप आज मशीनों पर देखते हैं। यह एक बैकहो लोडर backhoe loader था. जिसे हम सभी उत्खनन excavator कहते हैं और यही वह मशीन है जिसे आजकल हर कोई जेसीबी JCB कहता है।

Also Read: CCTV ka Full Form Kya Hota Hai

लेकिन जनवरी 2003 में इसने अपना नाम बदलकर जेसीबी इंडिया लिमिटेड JCB India Limited कर दिया जो यूनाइटेड किंगडम United Kingdom में जेसीबी एक्सकेवेटर्स की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। भारत में इसकी पांच अत्याधुनिक फैक्ट्रियां हैं जहां यह विश्व स्तर के उपकरणों की एक विस्तृत श्रृंखला बनाती है। इसकी फैक्ट्री बल्लभगढ़, नई दिल्ली में दुनिया की सबसे बड़ी फैक्ट्री है। यह जेसीबी इंडिया का मुख्यालय भी है।

इसने अपने परिचालन का विस्तार करने के लिए 2006 और 2007 में अपने भारी कारोबार heavy business के लिए पुणे में दो कारखाने स्थापित किए। इसने 2014 में जयपुर में 115 एकड़, पर्यावरण के अनुकूल विनिर्माण सुविधा की स्थापना की। JCB ने अपनी स्थापना के बाद से भारत में लगभग 2000 करोड़ का निवेश किया है और आज यह भारत में लगभग 5,000 लोगों को काम देता है।

जेसीबी के प्रोडक्ट

  • Tractors
  • JCB phones
  • Excavators
  • Compactors
  • Generators
  • Wheeled Loaders
  • Military vehicles
  • Skid Steer Loaders

JCB के मुख्य कार्य

आपको बता दें कि आज के जमाने में इस मशीन के बिना कोई भी कार्य असंभव है क्योंकि बड़ी से बड़ी इमारत बनाने में भी इसी की मदद ली जाती है इसलिए यह मशीन बहुत ही कारगर साबित होती है.इसके लिए काफी मेहनत और मेहनत की जरूरत होती है और यह मशीन ऐसे भारी और भारी कामों को बहुत आसानी से कर लेती है। इस मशीन का उपयोग ज्यादातर गड्ढा खोदने, मिट्टी उठाने आदि के लिए किया जाता है।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं. यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments