नेट बैंकिंग क्या है इसके क्या फायदे नुकसान है इसके बारे में जानते हैं?

0
218
Net Banking

परिचय

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि आजकल लोग ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने लगे हैं जैसे कि काम बहुत ही आसानी से हो गया है आजकल यूपीआई UPI पेमेंट आईडी से आसानी से पेमेंट एक दूसरे के पास आ जा सकते हैं सरकार ने इससे भी आसान तरीके मार्केट में लॉन्च की है जिसके द्वारा आप आसानी से पैसों का लेनदेन कर सकते हैं उसी तरीके में से एक है नेट बैंकिंग ,

नेट बैंकिंग क्या है नेट बैंकिंग के क्या फायदे हैं क्या नुकसान है इसके बारे में हम आपको विस्तार पूर्वक आज बताने वाले हैं तो चली आपको उसके बारे में बताते हैं चलिए आपको बता दें कि दुनियाभर में बहुत सारे बैंक हैं जो कि अपने ग्राहकों को नेट बैंकिंग net banking की सुविधा देते हैं ताकि वह इसके द्वारा अपने पैसों का लेनदेन कर सकें।

इंटरनेट बैंकिंग क्या है?

आपको बता दें इंटरनेटबैंकिंग आप कहीं भी किसी भी स्थान से घर बैठे या बैंक ऑफिस में बैठकर ऑनलाइन बैंकिंग कर सकते हैं क्योंकि यह ऑफर केवल फाइनेंसर इंस्टिट्यूट द्वारा दी जाती है कस्टमर इस सेवा का उपयोग अपने कंप्यूटर लैपटॉप मोबाइल पर इंटरनेट net bank को एक्टिव करके इसका उपयोग कर सकते हैं यदि आपकोइंटरनेट की सेवाएं एक्टिव करनी है तो आपको अपने बैंक में जाकर इंटरनेट की सेवाएं एक्टिव कुरानी होंगी जिसके बाद से आप इसकी सेवाएं ले सकते हैं इसके लिए आपको ऑनलाइन जाकर नेट बैंकिंग का रजिस्ट्रेशन करवाना होगा उसके बाद ही आप अपने यूजर आईडी और यूजर पासवर्ड के द्वारा ही नेट बैंकिंग का प्रयोग कर सकते हैं नेट बैंकिंग से आप अपने सभी बैंक के के खातों का लेनदेन स्टेटमेंट पासवर्ड चेंज एटीएम कार्ड , ATM card इत्यादि भी नेट बैंक net bank के द्वारा ही मंगा सकते हैं.

इंटरनेट बैंकिंग से ग्राहकको क्या सुविधाएं मिलती हैं?

आपको बता दें कि इंटरनेट बैंकिंग के द्वारा ग्राहक अपनी पैसों की लेनदेन आसानी से कर सकता है किसी को पैसे भेजने हैं वह नेट बैंकिंग net banking, के द्वारा कर सकता है वह नेट बैंकिंग के द्वारा अकाउंट स्टेटमेंट देख सकता है उसके अकाउंट में कितने पैसे हैं कितनी ट्रांजैक्शन हुई हैं इत्यादि आसानी से देख सकता है वह नेट बैंक के द्वारा मोबाइल रिचार्ज बिजली बिल गैस बिल इत्यादि पेमेंट आसानी से कर सकता है यदि आप किसी कंपनी में फिक्स डिपाजिट करवाना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन ही जाकर नेट बैंकिंग net banking, के द्वारा ही कर सकते हैं नेट बैंकिंग इतवारा ऑफ टैक्स पेमेंट भी कर सकते हैं.

Read More: BMI ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of BMI?

यदि आपकी चेक बुक खत्म हो जाती है तो आपको बैंक में जाने की जरूरत नहीं है आप नेट बैंकिंग net banking, के द्वारा ही चेक बुक की कॉपी मंगा सकते हैं और डिमांड ड्राफ्ट के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं यह सभी छोटी मोटी रेट बैंक की सुविधाएं हमें बैंक प्रोवाइड करता है जिसे हम इंटरनेटबैंकिंग कहते हैं कुछ बैंक इंटरनेट बैंकिंग net banking, करने के लिए रिवॉर्ड पॉइंट देते हैं जिसका उपयोग उपयोग करके आप शॉपिंग बिल पेमेंट इत्यादि कर सकते हैं.

मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग में क्या अंतर है?

आपको बता दें कि मोबाइल बैंकिंग mobile banking है। ऐसी से ऐसी सेवा प्रणाली है जो कि ग्राहक अपने मोबाइल के द्वारा ही आसानी से कर सकता है उसे अपने बैंक के खाते को अपने मोबाइल नंबर से लिंक करना होता है, और वह अपने मोबाइल के द्वारा ही एक एसेमेस कोड भेज SMS code कर पैसे का लेनदेन कर सकता है पेमेंट कर सकता है किसी भी चीज की भुगतान इत्यादि आसानी से मोबाइल के एक कोड के द्वारा एसएमएस के द्वारा आसानी से किया जा सकता है नेट बैंक की की बात की जाए तो नेट बैंकिंग ऐसा माध्यम है।

जिसके द्वारा ग्राहक ऑनलाइन जाकर कोई भी चीज खरीद सकता है बिल पेमेंट कर सकता है चेक के लिए अप्लाई कर सकता क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई कर सकता है. यह वह नेट बैंकिंग के द्वारा कर सकता है लेकिन यह सुविधा मोबाइल बैंकिंग में उपलब्ध नहीं है आप मोबाइल बैंकिंग से केवल पैसे का लेन देन कर सकते हैं और बिलों का भुगतान कर सकते हैं.

Read More: SRM Ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of SRM?

इंटरनेट बैंकिंग प्रयोग करते समय कौन कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए

आपको इंटरनेट बैंकिंग internet banking का इस्तेमाल करने से पहले ध्यान रखना है कि आप इंटरनेट बैंकिंग internet banking प्रयोग करते समय कौन कौन सी सावधानियां बरतनी चाहिए का उपयोग पब्लिक स्थान पर ना कर रहे हो क्योंकि वहां पर लोग आसानी से आपकी इंटरनेट बैंकिंग internet banking का पासवर्ड आईडी देख सकते हैं और आपकी मेहनत के पैसे खो सकती है तथा आप नेट बैंकिंग का उपयोग साइबरकैफे में ना करें तो बहुत ही बेहतर है.

आपको हर 3 महीने में अपना पासवर्ड चेंज करते रहना चाहिए ताकि अकाउंट हैक होने से बच सके भूल कर इसमें अपना डेट ऑफ बर्थ नाम शहर का नाम ना डालें इसमें कुछ डिफरेंट पासवर्ड डालें जिससे कि कोई हैकर इसे आसानी से हटना कर सके अपना आईडी और पासवर्ड किसी भी दूसरे व्यक्ति को शेयर ना करें इससे आपकी नेट बैंकिंग net banking हैक हो सकती और आपका पैसा डूब सकता है यदि आपको नेट बैंकिंग net banking करते समय कोई भी परेशानी हो रही हो तो तुरंत आप अपने नजदीकी बैंक में जाएं और उस समस्या का हल पाएं.

इंटरनेट बैंकिंग कैसे चालू करें?

यदि आप इंटरनेट बैंकिंग या नेट बैंकिंग की सुविधा लेना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी बैंक की ब्रांच की शाखा में जाना होगा वहां जाकर सबसे पहले अपना बैंक अकाउंट की कॉपी वहां के किसी कर्मचारी को दिखानी होगी और एक फॉर्म फिल करना होगा जिसमें आपको बताना होगा कि आपको अपने इस अकाउंट से नेट बैंकिंग internet banking लेनी है तो पहले बैंक में उस फॉर्म को आपको भरना होगा फॉर्म भरने के बाद वह सबमिट हो जाएगा, तो उसके बाद आप नेट बैंकिंग internet banking की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी उसके बाद आप आपको ऑनलाइन जाकर एक रजिस्ट्रेशन करना होगा सभी प्रोसेस स्टेप टू स्टेप करने के बाद आपकी नेट बैंकिंग की सुविधा ऑन हो जाएगी जिसका उपयोग आसानी से कर सकते हैं.

Read More: RNA ka Full Form Kya Hota Hai? -In Hindi- What is the Full Form of RNA?

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लगी हैं आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इसे लाइक कर सकते हैं धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here