Thursday, August 18, 2022
Homefull formsOPD का फुल फॉर्म क्या होता है?

OPD का फुल फॉर्म क्या होता है?

ओपीडी OPD चिकित्सा क्षेत्र में बहुत लोकप्रिय शब्द है। यह अस्पताल में एक विभाग है। जब आप पहली बार किसी अस्पताल में प्रवेश करते हैं तो उस समय आप सबसे पहले अपने मरीज को ओपीडी OPD विभाग में ले जाते हैं। यह विभाग आमतौर पर अस्पताल के भूतल पर बनाया जाता है। यह विभाग कई विभागों में बंटा हुआ है। ताकि मरीजों को ज्यादा परेशानी का सामना न करना पड़े। आज हम बात करेंगे ओपीडी OPD का फुल फॉर्म क्या होता है और ओपीडी OPD को हिंदी में क्या कहते हैं और ओपीडी OPD का उपयोग कहां किया जाता है.

ओपीडी (OPD) का फुल फॉर्म

ओपीडी का फुल फॉर्म Outpatient Department है। हिन्दी में इसे बाह्य रोगी विभाग कहते हैं। Outpatient Department का कार्य रोगी patient और अस्पताल के कर्मचारियों hospital staff के बीच संपर्क स्थापित करना है। इस विभाग को रोगों के अनुसार कई उप-मंडलों several sub-divisions में बांटा गया है, ताकि मरीज के अस्पताल आने पर उसे तुरंत इलाज मुहैया कराया जा सके. चिकित्सा विभाग के निर्देशानुसार इसे अस्पताल के भूतल ground floor पर बनाया जाए। इससे मरीजों को समय पर इलाज मिल सकेगा।

ओपीडी (OPD) क्या होता है

जब रोगी पहली बार अस्पताल में प्रवेश करता है, तो रोगी को पहले बाह्य रोगी विभाग यानि ओपीडी में ले जाया जाता है।

फिर ओपीडी स्टाफ OPD staff तय करता है कि मरीज को किस विभाग में जाना चाहिए। आम तौर पर ओपीडी OPD अस्पताल के भूतल ground floor पर होती है और इसे कई वर्गों में विभाजित किया जा सकता है जैसे कि न्यूरोलॉजी विभाग, हड्डी रोग विभाग, स्त्री रोग विभाग, सामान्य चिकित्सा विभाग Department of Neurology, Department of Orthopedics, Department of Gynecology, Department of General Medicine आदि। यहां रोगी सभी औपचारिकताएं पूरी करता है और फिर संबंधित विभाग में जाता है। यहां मरीज की तबीयत बिगड़ने पर उसे आईसीयू ICU में शिफ्ट कर दिया जाता है।

ओपीडी (OPD) में रोगियों के प्रकार

आउट पेशेंट – एक आउट पेशेंट वह मरीज होता है जो 24 घंटे या उससे अधिक समय तक अस्पताल में भर्ती नहीं रहता है बल्कि इलाज treatment या निदान diagnosis के लिए अस्पताल या क्लिनिक clinic जाता है।

Read More: RDBMS ka Full Form Kya Hota Hai

इनपेशेंट – एक इनपेशेंट एक ऐसा मरीज होता है जो कई दिनों या हफ्तों के लिए रात भर अस्पताल में भर्ती रहता है।

ओपीडी की सेवाएं

परामर्श कक्ष – परामर्श कक्ष Consultation Room ओपीडी वह विभाग है जहां रोगियों को विशेषज्ञों द्वारा चिकित्सा, शल्य चिकित्सा, आहार medical, surgical, diet और राय दी जाती है।

परीक्षा कक्ष – परीक्षा कक्ष ओपीडी का विभाग है जहां मरीजों की जांच की जाती है। इसमें मरीजों की बीमारी का पता लगाया जाता है।

Diagnostic – Diagnostic विभाग में रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी और अन्य नैदानिक सेवाओं के नमूने एकत्र किए जाते हैं।

फार्मेसी – Pharmacy विभाग ओपीडी का वह विभाग है जहां मरीजों को दवा उपलब्ध कराई जाती है।

OPD के विभाग

  • Neurosurgery
  • Cardio-Thoracic Surgery
  • General & Laparoscopy Surgery
  • Orthopaedics & Joint Replacement Surgery
  • Nephrology & Renal Transplant Surgery
  • Gastroenterology & HepatologyInternal Medicine

IPD का मतलब क्या होता है?

अस्पताल में कोई भी मरीज आईपीडी IPD में भर्ती होता है, यानी उसे अस्पताल में 1/2 रुककर इलाज कराना होता है, यहां यह मरीज पर निर्भर करता है कि वह कितने दिन आईपीडी IPD में रहेगा।

जिस अस्पताल में हम मरीज को भर्ती करते हैं और उसका इलाज करते हैं, उस विभाग को आईपीडी IPD विभाग कहा जाता है और जिस विभाग में कोई भी मरीज बिना इलाज के घर जाता है, उस विभाग को ओपीडी विभाग OPD department कहा जाता है।

ओपीडी और आईपीडी OPD And IPD में क्या अंतर है

अस्पताल में आने वाले किसी भी सामान्य रोगी को बाह्य रोगी outpatient department विभाग से संपर्क करना होता है।

Read More: Keyboard Kya Hai

जो कोई भी अस्पताल में रहता है और अपना इलाज करवाता है, उसे अस्पताल के इनपेशेंट विभाग inpatient department के कर्मचारियों से संपर्क करना होता है।

कोई भी रोगी जो कुछ दिनों के लिए अस्पताल में भर्ती रहता है, उसे अस्पताल में प्रवेश करते समय इनपेशेंट विभाग inpatient department से संपर्क करना होता है और जिस रोगी को केवल भर्ती नहीं करना होता है, उसे उपचार के बाद घर जाना होता है, उसे आउट पेशेंट विभाग outpatient department से संपर्क करना होता है। (जो भी मरीज आते हैं और अस्पताल में भर्ती होकर अपना इलाज कराना चाहते हैं, उन्हें आईपीडी IPD से संपर्क करना पड़ता है और जो मरीज सिर्फ अपना इलाज करवाते हैं लेकिन भर्ती नहीं होते हैं उन्हें ओपीडी OPD से संपर्क करना होता है।)

OPD के फायदे

  • यह ओपीडी OPD मामूली इलाज के लिए बहुत अच्छी है।
  • भर्ती के मुकाबले ओपीडी OPD में खर्चा कम आता है।
  • इस ओपीडी OPD में क्लीनिक/दवाओं/दवाओं की विस्तृत श्रृंखला शामिल है।
  • साथियों, ओपीडी OPD की मदद से संचारी रोगों पर नियंत्रण और निगरानी करना काफी आसान हो जाता है।
  • ओपीडी OPD में मेडिकल हिस्ट्री और रिसर्च का डेटाबेस आसानी से मिल जाता है।
  • यह एम्बुलेंस ऑन-कॉल on-call के लिए आदर्श है जो आपात स्थिति से संबंधित आपात स्थिति के मामले में रोगियों के लिए बहुत मददगार है।
  • मरीजों के लिए व्हील चेयर और रैंप की व्यवस्था की गई है, जिस पर मरीज कुछ देर आराम कर सके।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments