Friday, October 7, 2022
HomeTechnologyफास्टैग FASTag क्या है?

फास्टैग FASTag क्या है?

आज हम बात करने वाले हैं फास्टैग FASTag  क्या है, और यह कैसे काम करता है इसकी फुल फॉर्म क्या है।

 आपको बता दें कि टोल प्लाजा पर टोल कलेक्शन सिस्टम से होने वाली परेशानियों का हल निकालने के लिए राष्ट्रीय हाईवेज अथॉरिटी ऑफ इंडिया द्वारा भारत में इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम शुरू किया गया है। इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन सिस्टम FASTag स्कीम भारत में सबसे पहले साल 2014 में शुरू की गई थी जिसे धीरे-धीरे पूरे देश के टोल प्लाजा पर लागू कर दिया गया है. फास्ट ट्रैक FASTag सिस्टम की मदद से आपको टोल प्लाजा में टोल टैक्स देने के दौरान होने वाली परेशानियों से छुटकारा मिलता है, FASTag की मदद से आप टोल प्लाजा में बिना रुके अपना टोल प्लाजा टैक्स दे सकेंगे आपको बस अपने वाहन पर लगाना है अब यह किसी अधिकारी जारीकर्ता बैंक से भी खरीद सकते हैं.

फास्टैग क्या है

आपको बता दें कि FasTag इलेक्ट्रिक टोल कनेक्शन की एक बेहतरीन तकनीक है जिसके जिसके चलते आप राष्ट्रीय राजमार्ग उसे अपने वाहनों को गुजारने के लिए सरकार द्वारा बनाया गया टोल टैक्स पर आप तो टोल टैक्स देना होता है. या टोल टैक्स वसूलने के लिए हाईवे पर जगह-जगह टोल प्लाजा बनाए जाते हैं लोगों द्वारा यहां पर भुगतान कॅश के माध्यम से किया जाता है. किंतु फिर सरकार ने इसे ऑनलाइन कर दिया है इससे ही FasTag कहते हैं. प्रत्येक चौपहिया वाहन चालक को अपने वाहन में FasTag लगाना होता है, इस FasTag को प्राप्त करने के लिए उन्हें पहले पंजीकरण करना होता है, जिसके बाद यह उनके वाहन के लिए जारी किया जाता है, इसके लिए टोल प्लाजा पर भुगतान नहीं करना पड़ता है और यह किया जाता है स्वचालित रूप से ऑनलाइन। होता है।

फास्टैग  कैसे  काम  करता है

FASTag वाहन की विंडस्क्रीन में लगा होता है और रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) से लैस होता है। जैसे ही आपका वाहन टोल प्लाजा के पास पहुंचता है, टोल प्लाजा पर लगे सेंसर आपके वाहन के विंडस्क्रीन में लगे फास्टैग के संपर्क में आ जाता है, उस टोल प्लाजा पर आपके फास्टैग खाते से शुल्क काट लेता है, वाहन में आपका प्रीपेड खाता सक्रिय हो जाता है जैसे ही यह सक्रिय होता है। आपका प्रीपेड अकाउंट एक्टिवेट होते ही यह टैग काम करना शुरू कर देगा। वहीं, जब आपके FASTag खाते में राशि समाप्त हो जाएगी, तो आपको इसे फिर से रिचार्ज करना होगा। FASTag की वैलिडिटी 5 साल तक होगी यानी पांच साल बाद आपको अपनी गाड़ी में नया FASTag लगवाना होगा.

Read More: Share Market Kya Hai

फास्टैग के फायदे (Benefits of FasTag)

पेट्रोल एवं डीज़ल में कमी –

FasTag की मदद से आपका समय बचाने के साथ-साथ आपका पेट्रोल डीजल भी बचता है

लंबी लाइन एवं समय में कमी –

सड़क परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा में टोल टैक्स देने के कारण लगने वाली गाड़ियों की लंबी लाइन और खुले  पैसे होने की समस्या का हल करने के लिए FasTag  सिस्टम का देश के कई टोल प्लाजा पर शुरू किया है.

गांव के लोगों को विशेष सुविधा (मासिक पास)

यदि कोई गांव राष्ट्रीय राजमार्ग पर मौजूद है तो टोल प्लाजा के 20 किमी के दायरे में अंतर होता है, उस गांव के सभी चालकों को एक बार में ₹275 का भुगतान करना होता है, जो कि पूरे महीने के लिए अपना आधार दिखाकर भुगतान करना होता है। कार्ड। आपको बता दें कि फिलहाल फास्टैग को भारत के कुछ शहरों में ही लागू किया गया है, लेकिन इसकी सफलता के बाद इसे जल्द ही सड़क परिवहन मंत्रालय पूरे देश में लागू कर देगा।

फास्टैग रिचार्ज के लिए बैंक

आप अपने FASTag FASTag खाते को क्रेडिट कार्ड डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग के माध्यम से रिचार्ज कर सकते हैं पहले एक खाते में न्यूनतम ₹100 और अधिकतम एक लाख तक रिचार्ज किया जा सकता है। आप बिक्री के किसी भी बिंदु के अंदर टोल प्लाजा और एजेंसी पर जाकर अपना FASTag FASTag स्टिकर और फास्टट्रैक खाता खोल सकते हैं।

आने वाले समय में आईडीएफसी बैंक और एसबीआई बैंक भी जल्द ही इसमें शामिल होंगे। वहीं, आप एसबीआई बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, सिंडिकेट बैंक, पेटीएम, करूर व्यास बैंक, एचडीएफसी बैंक के जरिए फास्टैग अकाउंट को रिचार्ज कर सकते हैं। FASTag खाता खोलते समय, आपको दिए गए फॉर्म के साथ निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे, जो इस प्रकार हैं-

Vehicle Registration Certificate (RC)

Vehicle owner passport photo

KYC documents of the vehicle owner and any document on which your home address is mentioned.

भारत में कब शुरू हुआ फास्टैग

आपको बता दें कि भारत में यह सिस्टम सबसे पहले अहमदाबाद और मुंबई के हाईवे के बीच 2014 में शुरू किया गया था जुलाई 2015 में इसे चेन्नई बेंगलुरु टोल प्लाजा पर शुरू किया गया था अभी तक देश में 332 टोल प्लाजा पर इस सुविधा का लाभ दिया जा रहा है।

टोल टैक्स के अलावा इन कामों के लिए भी जरुरी FASTag

 बीते कई सालों में भारत सरकार ऐसा भी चार पहिया वाहनों में फास्ट है किस विधा का अनिवार्य कर दिया है जिसे अब 1 जनवरी से पूर्ण रुप से अनिवार्य कर दिया है जी हां आप सभी टोल नाकों पर टैक्स का भुगतान केस में नहीं होगा  FASTagक के माध्यम से ही होगा। और आपको हम यह महत्वपूर्ण जानकारी भी दे रहे हैं कि  FASTag का उपयोग आप टोल टैक्स का भुगतान करने में तो करेंगे ही साथ में आपको इन कार्य में भी इसकी आवश्यकता पड़ेगी यदि आपकी गाड़ी में  FASTag लगा है तब भी अपनी गाड़ी के लिए ट्रांसपोर्ट फिटनेस सर्टिफिकेट को रिन्यू कराने में सक्षम हो सकेंगे।

आपको यह जानकारी दे दें कि जब फ़ास्टैग की शुरुआत की गई थी, तभी से नेशनल परमिट व्हीकल्स के लिए भी फ़ास्टैग आवश्यक हो गया था.

वर्ष 2021 के अप्रैल माह से थर्ड पार्टी इन्सुरांस कराने के लिए भी फ़ास्टैग अतिआवश्यक होगा. और जिन गाड़ियों में फ़ास्टैग नहीं लगा होगा उनका थर्ड पार्टी इन्सुरांस भी नहीं हो सकेगा.

यदि हमारा द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और हमारे पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करना ना भूले.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments