Thursday, August 18, 2022
Homefull formsडीएनए DNA का फुल फॉर्म क्या होता है ?

डीएनए DNA का फुल फॉर्म क्या होता है ?

आप सभी जानते हैं कि आज के समय को विज्ञान का समय कहा जाता है. क्योंकि विज्ञान ने इतनी तरक्की कर ली है आप सोच भी नहीं सकते ,विज्ञान के द्वारा बारीक से बारीक चीजों की खोज की गई है विज्ञान के द्वारा जिस चीज़ का आविष्कार हुआ है. वह हर आविष्कार मानव के लिए बहुत ही गुणकारी साबित हुआ है। वर्तमान समय में मनुष्य में विज्ञान के द्वारा अंतरिक्ष में लेकर स्वास्थ्य क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि मिली है। विज्ञान के द्वारा मानव स्वास्थ्य के क्षेत्र में डीएनए DNA  की खोज की गई है।  आपको इसके बारे में जरूर पता होगा कि डीएनए DNA क्या होता है नहीं पता है तो आज हम आपके बारे में बताएंगे DNA फुल फॉर्म क्या होता है, क्या काम होता है.

आपको बता दें कि DNA  मानव के कोशिका केंद्रक के अंदर पाए जाने वाला धागेनुमा एक संरचना  होती है ,जो अम्ल प्रकृति का होता है जो मनुष्य के पूरे शरीर में जैसे हाथ, पैर और आगे किसी भी अंग की कोशिका के केन्द्रक के अंदर पाया जाता है. जो हर एक मनुष्य में पाया जाता है आपको बता दें कि सन 1953 ईस्वी में ई. में जे. डी. वाटसन और क्रिक ने  डीएनए की रचना द्विकुंडलित संरचना मॉडल (double helix model) तैयार किया। इस काम के लिए उन्हें सन 1962 में नोबेल पुरस्कार भी मिला। 

डीएनए का फुल फॉर्म (DNA FULL FORM)

DNA का फुल फॉर्म हिंदी में – डॉक्सी रिबोनुक्लिक एसिड

DNA का फुल फॉर्म  इंग्लिश में – Deoxy Ribonuclic Acid

D – deoxy

N – ribonuclic

A – acid

आपको बता दें कि यह तंतुनुमा अणु होता है जिसमें जिंदा कोशिकाओं के गुणसूत्र पाए जाते हैं डीएनए DNA का संबंध जीवित कोशिकाओं से होता है. इसकी आकृति लहरदार सीढ़ी की भाती होती है। इसे 3d संरचना के द्वारा देखा जा सकता है। डीएनए का निर्माण दो फिलामेंट के द्वारा किया जाता है। इसकी सरंचना इन्हीं फिलामेंटों से मिलकर होती है.फिलामेंटों में चारों ओर से घुमावदार संरचना का निर्माण करती हैं इस सरचना को हम डीएनए DNA के नाम से जानते हैं.

Read More: PHD ka Full Form Kya Hota Hai

डीएनए के कार्य (DNA WORK)

आपको बता दें कि डीएनए DNA का काम एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में स्थानांतरित होते रहना है। इसके द्वारा पीढ़ी में होने वाले परिवर्तन का विषय में जानकारी प्राप्त की जा सकती है. डीएनए DNA के द्वारा कोशिकाओं में सूचनाओं को लंबे समय तक सुरक्षित रखा जा सकता है। इन सूचनाओं का उपयोग कई रहस्य को पता लगाने के लिए भी किया जाता है जैसे कि हमारे वंशज क्या थे।

हमें डीएनए के कारण ही पता चल पाता है डीएनए DNA  में अनुवांशिक सूचनाओं का एक संग्रह होता है। इस संग्रह को जीन कहा जाता है इसी के साथ अनुवांशिक सूचनाओं के विषय में जानकारी प्राप्त होती है. इसके द्वारा ही अनुवांशिक गुणों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में भेजा जाता है.

आपको बता दें कि हमारे शरीर में डीएनए DNA लाल रक्त कोशिकाओं को छोड़कर लगभग हर कोशिकाओं में पाया जाता है हर इंसान को अपने माता-पिता से 23 जोड़े डीएनए DNA मिलते हैं. प्रत्येक जोड़े में से एक माता द्वारा तथा एक पिता द्वारा मिलता है. आपको बता दें कि हर इंसान का डीएनए उसके माता-पिता के डीएनए के मिश्रण से ही मिलकर बना होता है यही कारण है कि माता-पिता के बहुत से लक्षण बच्चों में एक जैसे पाए जाते हैं जैसे कद, चमड़ी का रंग ,बालों का रंग आंखें इत्यादि

DNA में चार प्रकार के क्षार alkali  भी पाए जाते हैं जो इस प्रकार हैं –

एडिनिन ( adenine )

गुआनिन ( guanine )

थाइमिन ( thymine )

साइटोसिन ( cytosine )

डीएनए में अणुओं की संख्या के आधार पर, एडेनिन हमेशा थाइमिन से जुड़ा होता है, और साइटोसिन हमेशा ग्वानिन से जुड़ा होता है। एडेनिन और थाइमिन के बीच दो हाइड्रोजन बांड और साइटोसिन और ग्वानिन के बीच तीन हाइड्रोजन बांड होता हैं।

आपको बता दें कि मनुष्य का डीएनए में लगभग 3 बिलियन बेस होते हैं और यह 99 .9% सभी मनुष्य में एक जैसे होते हैं बाकी का 0.0 1% सभी मनुष्यों में एक दूसरे से अलग होता है आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कि चिंपांजी और मनुष्य का डीएनए 98% एक जैसा है.

डीएनए के प्रकार (TYPES OF DNA)

आपको बता दें कि जीवों में मुख्य रूप से तीन प्रकार के डीएनए DNA पाए जाते हैं जो इस प्रकार हैं :

A – DNA

B – DNA

Z – DNA

A-DNA

आपको बता दें कि इस प्रकार के डीएनए DNA में दोनों साइड के फिल्में छोटे चौड़े और छोटी-छोटी कोशिकाओं से बनी होती है इसमें 10.9 / 11 क्षार युग्म पाए जाते है |

B-DNA

इस प्रकार के डीएनए DNA में दोनों साइड के फिलामेंट्स पतले और लंबे होते हैं, इसकी खांच गहरी तथा उथली हुई होती है, इसके प्रत्येक स्तर में 10.9 / 11 क्षार युग्म पाए जाते है |

Z-DNA

इस प्रकार के डीएनए DNA में दोनों साइड के फिलामेंट्स पतले और लंबे होते हैं, परन्तु इसमें खांचे केवल गहरी होती है | इन्हें Z-DNA कहा जाता है | इसके प्रत्येक स्तर में 12 क्षार युग्म पाए जाते है |

आपको बता दें कि यदि मनुष्य के शरीर में मौजूद डीएनए को सुलझाया जाए तो इतने लंबे डीएनए होंगे।  DNA हर कोशिका में 0.09 माइक्रोमीटर की  जगह गिरता है। 1 ग्राम डीएनए में 700 टेराबाइट की जानकारी सुरक्षित की जा सकती है और 2 ग्राम डीएनएDNA में पूरी दुनिया के इंटरनेट डाटा को सुरक्षित किया जा सकता है. डीएनए DNA अपना प्रतिरूप बनाता है और जिसमें हर कोशिका विभाजन के समय नई कोशिका को डीएनए DNA  मिल जाता है। हमारे शरीर से रोजाना 1000 से लेकर 10 लाख तक डीएनए नष्ट हो जाते हैं. दुनिया की कितनी भी प्रजातियां हैं उनकी जानकारी को एक चम्मच डीएनए DNA में सुरक्षित किया जा सकता है.

हमें इस पोस्ट में जाना कि डीएनए क्या होता है डीएनए कैसे काम करता है डीएनए की फुल फॉर्म क्या होती है, यदि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं ,और इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments