Friday, October 7, 2022
Homefull formsICSE का फुल फॉर्म क्या होता है ?

ICSE का फुल फॉर्म क्या होता है ?

देश के सभी माता-पिता अपने बच्चों की शिक्षा को लेकर बहुत चिंतित हैं कि उन्हें किस स्कूल में दाखिला दिया जाए, उनके लिए कौन सा बेहतर है। ऐसी चिंता सभी माता-पिता के भीतर अपने बच्चों को लेकर होती है और साथ ही जब बच्चों को आगे की पढ़ाई के लिए स्कूल में दाखिल कराने की बात आती है, तो सभी माता-पिता सोचते हैं कि उन्हें सीबीएसई CBSE बोर्ड में अपने बच्चों का प्रवेश लेना चाहिए। आईसीएसई बोर्ड में उनके लिए कौन सा बोर्ड बेहतर साबित होगा, क्योंकि हमारे देश में राष्ट्रीय स्तर पर 2 महत्वपूर्ण बोर्ड हैं, जिसमें सीबीएसई CBSE बोर्ड और आईसीएसई ICSE बोर्ड दोनों आते हैं। वहीं, हमारी शिक्षा प्रणाली में मुख्य रूप से तीन खंड हैं जिनमें प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्तर शामिल हैं। इनमें से प्रत्येक स्तर पर करियर बनाने के लिए अलग-अलग प्रक्रियाएं हैं।

आईसीएसई ICSE का फुल फॉर्म

ICSE का फुल फॉर्म “Indian Certificate of Secondary Education” है। हिंदी में “इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन” कहा जाता है। यह एक महत्वपूर्ण बोर्ड है।

आईसीएसई (ICSE) का क्या मतलब

ICSE एक बोर्ड है, यह एक ऐसा बोर्ड है, जिसमें परीक्षा CISCE यानी द काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन द्वारा आयोजित की जाती है। काउंसिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) को भारत में एक निजी, गैर-सरकारी शिक्षा बोर्ड माना जाता है। यह बोर्ड मुख्य रूप से 1956 में एंग्लो-इंडियन शिक्षा के लिए एक अंतर-राज्यीय inter-state बैठक में आयोजित किया गया था। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

ICSE बोर्ड भारत में नई शिक्षा नीति 1986 की सिफारिशों को पूरा करने के लिए बनाया गया था। इस बोर्ड द्वारा आयोजित सभी परीक्षाएं केवल अंग्रेजी में आयोजित की जाती हैं। इसके अलावा आईसीएसई ICSE के संबद्ध affiliated कॉलेजों के नियमित छात्र ही इसकी परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

जिन विषयों में एक से अधिक पेपर होते हैं (जैसे, विज्ञान), उस विषय में प्राप्त अंकों की गणना उस विषय के सभी पेपरों के विषय को लेकर की जाती है। जबकि जो उम्मीदवार इस परीक्षा में बैठने के इच्छुक हैं, उन उम्मीदवारों को छह विषयों का अध्ययन करना होता है, जिसमें प्रत्येक विषय में एक से तीन पेपर होते हैं। इन विषयों के आधार पर कुल 8 से 11 पेपर तैयार किए जाते हैं।

ICSE Board और CBSE Board में क्या अंतर है?

सीबीएसई और आईसीएसई CBSE and ICSE बोर्ड के बीच सबसे बड़ा अंतर यह है कि सीबीएसई CBSE बोर्ड को भारत सरकार द्वारा नियंत्रित किया जाता है और आईसीएसई बोर्ड को निजी माना जाता है जिसके कारण उनकी फीस सीबीएसई CBSE की तुलना में बहुत अधिक है लेकिन यह बोर्ड भारत में बहुत अधिक है पसंदीदा बोर्ड है

अगर हम दोनों के परीक्षा पैटर्न की बात करें तो सीबीएसई CBSE बोर्ड उन छात्रों के लिए प्रतियोगी प्रवेश परीक्षाओं जैसे – IIT-JEE, CPMT, AIPMT आदि के लिए सबसे अच्छा है। सीबीएसई CBSE बोर्ड काफी अच्छा है और कम पैसा भी खर्च होगा क्योंकि यह सरकार। लेकिन अगर आप मेधावी छात्र हैं और विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आपको सीबीएसई CBSE से बेहतर आईसीएसई करना होगा।

Read More: LPG Ka Full Form Kya Hai

आईसीएसई ICSE बोर्ड उन छात्रों के लिए काफी बेहतर है जो विदेश में यानि विदेश में अपनी आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं, यह उनके लिए काफी मददगार साबित होगा और उन्हें विदेश में पढ़ाई को समझने में ज्यादा आसानी होगी, इसलिए विदेश में पढ़ने वाले छात्रों के लिए आईसीएसई ICSE काफी बेहतर होगा। .

आईसीएसई ICSE बोर्ड उन लोगों के लिए है जो विदेश में अध्ययन के लिए विदेश जाना चाहते हैं जहां उन्हें जीमैट, जीआरई, टीओईएफएल GMAT, GRE, TOEFL जैसी परीक्षा देनी है, तभी आप अध्ययन कर पाएंगे जिसमें अंग्रेजी मौखिक क्षमता परीक्षण किया जाता है और इस आईसीएसई बोर्ड में छात्र में बहुत सुधार हुआ है।

ICSE Board Subject

ICSE बोर्ड के Subject को तीन Groups मे विभाजित किया जाता है.

Group 1

English

Civics & Geography

History

Indian Language

Group 2

Science

Mathematics

Computer Science

Technical Drawing

Social Studies

Group 3

Economic

Fashion Designing

Computer Application

Cookery

Physical Education

आईसीएसई (ICSE) बोर्ड के फायदे

1) आईसीएसई ICSE बोर्ड एक ऐसा महत्वपूर्ण बोर्ड है, जो मुख्य रूप से बच्चे के समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित करता है और उसका पाठ्यक्रम संतुलित होता है।

2) इसका सिलेबस अधिक व्यापक है और इसमें छात्रों में प्रैक्टिकल नॉलेज और एनालिटिकल स्किल्स बढ़ते हैं।

3) ICSE बोर्ड में महत्वपूर्ण विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाता है।

4) इस पाठ्यक्रम syllabus में छात्रों को अपने मन के अनुसार विशिष्ट विषयों का चयन करने के लिए कहा जाता है।

5) इस बोर्ड में केवल अंग्रेजी माध्यम का प्रयोग किया जाता है। इसलिए यह बोर्ड उन छात्रों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है जो अंग्रेजी माध्यम में पढ़ना चाहते हैं।

Read More: HIV ka Full Form Kya Hota Hai

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments