Friday, October 7, 2022
HomeBusinessटैली का हिंदी में क्या मतलब होता है ?

टैली का हिंदी में क्या मतलब होता है ?

आज हम आपको टैली Tally के बारे में बताने वाले हैं, कि टैली Tally क्या होती है ,टैली Tally का आविष्कार कब किया गया ,टैली Tally कैसे काम करती है

अगर आप किसी कंप्यूटर इंस्टिट्यूट में हैं तो आपने टैली कंप्यूटर कोर्स का नाम तो सुना ही होगा, अक्सर लोग इसके बारे में जानते भी हैं. कि Tally के क्या फायदे हैं अगर आपको इन सवालों का जवाब नहीं मालूम तो कोई बात नहीं आज हम आपको Tally के बारे में ही जानकारी देंगे ,इसके इसके साथ ही आपको हम Tally के इतिहास के बारे में बताएंगे।

 जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज का जमाना कंप्यूटर का जमाना है हर काम के लिए इंसान कंप्यूटर की मदद लेता है , अंतरिक्ष यान हो या बैंक या कोई सरकारी कार्यालय या फिर कोई फोटो प्रिंट करके निकालनी हो हर जगह कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है।  बहुत सारी कंपनियों में अकाउंट से जुड़े कामों के लिए अलग-अलग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं वैसे ही अकाउंटिंग के लिए टैली Tally उपयोग में ली जाती है जो बहुत ही पॉपुलर एप्लीकेशन है.

टैली क्या है

Tally का अर्थ है पैसों की गणना करने के साथ-साथ ही उसका व्यस्थापन और संरक्षित करना है, इसके अलावा वस्तु कहां से खरीदी गई है कितने में खरीदी गई है, इन सभी कार्यों का रिकॉर्ड टैली में रखा जाता है।

Tally की फुल फॉर्म की बात की जाए तो इसकी फुल फॉर्म होती है Transactions Allowed in a Linear Line Yards. Tally भारत में प्रयोग होने वाली सबसे पॉपुलर अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है.  Tally Solutions Pvt. Ltd. कंपनी है जिसने टैली Tally का निर्माण किया है इसका हेड क्वार्टर भारत के बेंगलुरु शहर में है। कंपनी के रिपोर्ट के मुताबिक टैली Tally सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल 10 लाख से ज्यादा लोग करते हैं.

 एक जमाना हुआ करता था जब लोग अपने बिजनेस में होने वाले सभी वित्तीय लेनदेन को हाथ से लिख कर दस्तावेज में रखा करते थे ,लेकिन अब वक्त बीत चुका है आज के समय में सभी व्यापार के व्यवसाय में कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है और अकाउंट से जुड़े सारे सॉफ्टवेयर में सबसे अधिक लोकप्रिय है कंप्यूटर में काम की बात की जाती है तो दिमाग में आता है वह है टेली Tally अकाउंट में बहुत सी होती है वह कंप्यूटर के बिना सॉफ्टवेयर के नहीं की जा सकती करने के लिए ही टैली का सहारा लिया जाता है.

आपको बता दें कि Tally का इस्तेमाल भारत में बहुत ज्यादा होता है इसके अलावा और अन्य कई देशों में भी टैली Tally का इस्तेमाल बहुत ही प्रचलित है। यह सॉफ्टवेयर भारत की बड़ी-बड़ी कंपनियों में अकाउंटिंग से जुड़ी लोग उनके रोजमर्रा काम आने वाला सॉफ्टवेयर है।

Read More: URL ka Full Form Kya Hai

टैली का इतिहास

आपको बता दें कि टैली Tally का निर्माण भारत के बेंगलुरु में स्थित कंपनी में किया गया है लेकिन Tally Solution Company को पहले Peutronics नाम से जाना जाता था। Tally सन 1986 में  श्याम सुन्दर गोयनका और उनके बेटे भारत गोयनका ने मिलकर बनाया था. उस वक्त श्यामसुंदर गोयनका एक कंपनी चलाया करते थे जिस जिससे कि दूसरे प्लांट सौर टेक्सटाइल मिल को कच्चा माल और मशीन पार्ट्स सप्लाई करते थे, तो इस बिजनेस को मैनेज करने के लिए उनके पास कोई और ऐसा सॉफ्टवेयर नहीं था जिससे वह अपने हिसाब किताब आसानी से कर सके ,तब उन्होंने अपने बेटे से कहा कि एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाओ जिससे हम अपने बिजनेस को आसानी से मैनेज कर सके, भारत  गोयनका मैथमेटिक्स में ग्रेजुएट की थी ,उन्होंने एकाउंटिंग एप्लीकेशन के लिए सबसे पहला  MS – DOS वर्जन लॉन्च किया है इसमें सिर्फ बेसिक अकाउंटिंग जिसका नाम Peutronics financial Accountant अकाउंट रखा गया.

1988 में पहली बार इसका नाम बदलकर टैली कर दिया गया।

 1999 में इस कंपनी में formally कंपनी का नाम बदलकर Tally Solutions रखा.

 2001 के Tally के नए वर्जन Tally 6.3 लांच किया गया यह वर्जन से थोड़ा एडवांस था. क्योंकि इसमें अकाउंट के अलावा एजुकेशनल उद्देश्य  से उपयोग करने की योग्यता थी।

इसके साथ इसमें लाइसेंस की सुविधा भी दी गई थी.

टैली से अच्छे डिजाइन के साथ वर्ष 2005 में लॉन्च किया गया। जो सबसे बेहतरीन फीचर था वैल्यू एडेड टैक्स जो कि भारतीय ग्राहकों के लिए बहुत उपयोगी था। यह Tally 7.2 version था।

2006 में, टैली के दो संस्करण जारी किए गए, जिनमें से एक टैली 8.1 और दूसरा टैली 9.0 था।. ये Tally के maultilingual version थे.

2009 में इस कंपनी ने टैली ईआरपी 9 को एक व्यवसाय प्रबंधन समाधान Tally ERP 9 a business management solution. जारी किया।

2016 में टैली सॉल्यूशंस को जीएसटी GST  सर्वर और टैक्स पेयर्स के बीच इंटरफेस के रूप में जीएसटी GST सुविधा प्रदान करने के लिए चुना गया था और 2017 में कंपनी ने पूरी तरह से अपडेटेड जीएसटी GST अनुपालन सॉफ्टवेयर GST compliance software लॉन्च किया।

टैली करने के फायदे

जैसा कि आप सभी जानते हैं जो विद्यार्थी 12वीं के बाद यह सोचते हैं कि अपना करियर कहां बनाएं क्या करें कि उन्हें अच्छी जॉब मिल जाए तो ऐसे स्टूडेंट को हम बताना चाहेंगे कि उनके लिए Tally course बहुत ही अच्छा विकल्प है अच्छी नौकरी पाने के लिए आप टैली कोर्स Tally course कुछ ही महीनों में सीकर अच्छा अकाउंटेड बन सकते हैं।

जी हां, आपने सही सुना, टैली कोर्स आज के समय में काफी लोकप्रिय सॉफ्टवेयर है और इस पर बहुत कम लोग काम करते हैं, इसलिए इसमें जॉब ऑफर मिलने की बहुत अच्छी संभावना है और आप अच्छा पैसा कमा सकते हैं। हर जगह टैली कोर्स की मांग दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। इस कोर्स को करने के लिए ज्यादा पैसे भी खर्च करने की जरूरत नहीं होती है.टैली करने से आपको अकाउंट के बारे में ज्यादा जानकारी हो जाएगी जिससे कि आप कहीं भी आसानी से जो प्राप्त कर सकते हैं और इसमें आपको अच्छी खासी तनखा भी मिल सकती है.

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करना जरूर। अगर आपका कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके भी बता सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments