Thursday, August 18, 2022
HomeBusinessनिफ्टी Nifty को हिंदी में क्या कहते हैं ?

निफ्टी Nifty को हिंदी में क्या कहते हैं ?

जैसा कि आप सब लोग लोगों ने कभी ना कभी निफ्टी Nifty के बारे में सुना ही होगा और लोगों के मुंह से Nifty के बारे में बात करती हुई देखे गए होंगे, पर उनकी बातों से समझ नहीं आया होगा कि निफ्टी Nifty होती क्या है तो आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से Nifty के बारे में बहुत सारी जानकारी बताएंगे .

निफ्टी क्या है ?

निफ्टी का पूरा नाम  National Stock Exchange Fifty  शेयर बाजार से संबंधित शब्द है ,भारत में दो प्रकार के स्टॉक एक्सचेंज हैं जिससे आप शेयर बाजार मार्केट भी कहा सकते हैं. इन स्थानों पर कंपनियों के शेयर खरीदे या बेचे जाते हैं। इन Stock Exchange Market में एक NSE है, जिसका पूरा नाम नेशनल स्टॉक एक्सचेंज National Stock Exchange और है ,और दूसरा  NIFTY NSE का एक ही इंडेक्स है.

निफ़्टी Nifty नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया National Stock Exchange of India का एक महत्वपूर्ण बेंच मार्क होता है। यह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज National Stock Exchange में लिस्टेड 50 मुख्य कंपनियों को शेयर का सूचक index होता है। यह देश की 50 प्रमुख कंपनियों को शेयर पर नजर रखता है ,और इसमें सिर्फ वही 50 कंपनियों के शेयर को देखा जा सकता है जो कि लिस्टेड होती हैं, यह उन 50 शेयर जो कि लिस्टेड है उनके भाव में होने वाली तेजी या मंदी को भी ध्यान में रखता है, और उनकी सूचना देता है. nifty50 भारत का सबसे महत्वपूर्ण स्टॉक इंडेक्स है. यह  देश में सबसे ज्यादा ट्रेंड होता है दूसरे नंबर पर बीएसई सेंसेक्स BSE Sensex है.

आपको बता दें कि वैसे तो NSE  में 1500 से अधिक कंपनियां हैं, जो कि लिस्टेड है. लेकिन उसमें से अलग-अलग क्षेत्र की 50 बड़ी कंपनियों के शेयर को देखकर बाजार में मंदी और मुनाफा तय किया जाता है। यदि उन 50 कंपनियों के शेयर की कीमत बढ़ती है तो यह अनुमान लगाया जाता है कि शेयर मार्केट में बढ़ोतरी हो रही है। और यदि उन 50 कंपनियों के शेयर की कीमत कम होती है तो उसमें यह अनुमान लगाया जाता है कि बाजार में मंदी है. इस प्रकार NSE ने बाजार में मंदी और बढ़ती को बताने के लिए निफ़्टी इंडेक्स बनाया है. जिसे देखकर आसानी से एक आम इंसान भी यह जान सके कि बाजार में मंदी है या मुनाफा का दौर चल रहा है।

NIFTY का क्या काम है

आपको बता दें कि निफ्टी Nifty जिन कंपनियों के शेयर लिस्टेड है, वह कंपनी किस तरह काम कर रहे हैं अगर कंपनी अच्छा काम कर रही होती है तो उसका सीधा असर कंपनी के शेयर के भाव में भी दिखता है. और उस कंपनी के शेयर के भाव बढ़ जाते हैं ,और जब किसी लिस्टेड कंपनी के शेयर के भाव बढ़ जाते हैं. तो फिर उसकी वजह से निफ्टी में तेजी आ जाती है ,ठीक इसी तरह अगर इंडेक्स में लिस्टेड कंपनियों को लाभ कम हो रहा है, या नहीं हो रहा है तो इसका सीधा असर उस कंपनी के शेयर के भाव पर पड़ता है ,और शेयर के भाव में कमी आने लगती है. और जब शेयर के भाव में कमी आती है तो निफ्टी Nifty में गिरावट देखी जा सकती है.

Read More: Mutual Fund ko Hindi me Kya Kehte Hai

NIFTY और अर्थव्यवस्था

जैसा कि आप लोग सोच रहे होंगे कि निफ्टी Nifty और अर्थव्यवस्था economy का क्या मेल है तो आपको बता दें कि इस का बहुत ही बड़ा मेल होता है निफ्टी Nifty और देश की अर्थव्यवस्था economy में जैसे निफ्टी का ऊपर जाने हमें बताता है, कि कोई कंपनी अच्छा लाभ कमा रही है .अब ऐसे ही जब कंपनी अच्छा काम करके अच्छा पैसा कमा रही होती है ,तो इसके पीछे देश की अर्थव्यवस्था economy भी अच्छा काम कर रही होती है क्योंकि जितना ज्यादा भारतीय कंपनियां capital gain करेंगे उतना ही ज्यादा टैक्स भारत अर्थव्यवस्था economy में जुड़ेगा जो कि भारत की अर्थव्यवस्था economy में कहीं ना कहीं एक मजबूत बनाएगा।

NIFTY किस प्रकार बनता है?

आपको बता दें कि निफ़्टी किस तरह बनती है, इसकी गणना calculated किस तरह की जाती है, इसका तात्पर्य उन 50 लिस्टेड कंपनियों के शेयर कि कैलकुलेशन करना है, निफ्टी Nifty में जहां 50 कंपनियां लिस्टेड होती है वही NSE में लगभग 6000 के आसपास कंपनियां लिस्टेड होती हैं, अब उन 6000  कंपनियों में से 50 सबसे बड़ी कंपनियों को लिस्ट में रखा जाता है, जिससे बाजार की चाल का अनुभव लगाया जा सके निफ्टी में लिस्टेड 50 कंपनियां के शेयर ज्यादा खरीदे और बेचे जाते हैं, लिस्ट में 50 कंपनियों के अलग-अलग सेक्टरों में होती हैं। यह अपने क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनियां होती हैं, इनका मार्केट कैपिटल market capital बहुत बड़ा होता है जो कि लगभग 60 percent होता है जब भी इन कंपनियों के शेयर खरीदे जाने लगते हैं तो तो NIFTY ऊपर जाने लगता है  . और जब भी  मंदी आती है तो वहीं रुक जाती है. निफ्टी में लिस्टेड 50 कंपनियों को चुनने का इंडेक्स कमेटी का होता है। इसे कमेटी में बड़े-बड़े अर्थशास्त्री आदि शामिल होते हैं.

NIFTY के फायदे

निफ़्टी NSE किस प्रकार काम कर रही है उसके परफॉर्मेंस performance पर नजर रखती है.

 बाजार में तेजी चल रही है या मंदी उसके बारे में भी निफ्टी Nifty नजर रखती है बाजार में तेजी आना इसका मतलब आपको ज्यादा मुनाफा होगा उसके बारे में सटीक जानकारी Nifty देती है।

Nifty के माध्यम से हमें देश की अर्थव्यवस्था की जानकारी आसानी से मिल जाती है हमें पता लग जाता है कि अगर बाजार में तेजी बनी हुई है और Niftyऊपर की तरफ जाता है तो इसका मतलब है कि हमारे देश की अर्थव्यवस्था भी ऊपर की ओर जा रही है.

NIFTY और Sensex में क्या अंतर है

निफ्टी और सेंसेक्स वैसे तो दोनों एक ही स्टॉक इंडेक्स है पर दोनों में कुछ अंतर है जो इन दोनों को एक दूसरे से अलग बनाता है और बेहतर साबित करता है. NIFTY में- निफ्टी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज National Stock Exchange का हिस्सा है जबकि सेंसेक्स बॉंबे स्टॉक एक्सचेंज Bombay Stock Exchange का हिस्सा है.

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसी लगी. यदि यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो, अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले अगर आपका कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments